News Flash
criminal

हादसा ट्रक चालक की लापरवाही और तेज रफ्तारी के कारण हुआ

हिमाचल दस्तक। बिलासपुर
बिलासपुर पुलिस की पीओ सैल ने तेजर तारी व लापरवाही से एक ट्रक को दुर्घटनागस्त करने के मामले में शामिल अदालत द्वारा घोषित उद्घोषित अपराधी को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। पुलिस ने इस मामले में शामिल उदघोषित अपराधी छविन्द्र कुमार निवासी गुंगली डाकघर रियोग तहसील सुन्नी को जब्बल जुखाला से गिरफ्तार किया है। जानकारी के अनुसार स्वारघाट पुलिस चौकी में किसी ने 5 सितंबर, 2007 को फोन पर सूचना दी कि मौडू के पास एक ट्रक ढांक से नीचे गिर गया है।

सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और घटना स्थल का जायजा लिया। लेकिन घटना स्थल पर ट्रक नंबर एच.पी.63-3245 के अलावा और कोई व्यक्ति नहीं पाया गया। पुलिस को घटना स्थल से कुछ दूरी पर एक व्यक्ति जख्मी हालत में मिला। छानबीन करने पर घायल व्यक्ति ने अपना नाम छविन्द्र कुमार बताया और स्वयं को ट्रक का चालक बताया। पुलिस टीम द्वारा किए गए निरीक्षण में यह बात समाने आई कि यह हादसा ट्रक चालक की लापरवाही और तेज रफ्तारी के कारण हुआ है।

अदालत ने आरोपी को कई बार सम्मन जारी किए लेकिन वह अदालत में पेश नहीं हुआ

जिस पर पुलिस ने थाना सदर बिलासपुर में ट्रक चालक छविन्द्र कुमार के खिलाफ आईपीसी की धारा 279 व 337 के तहत मामला दर्ज किया गया और मामला ज्यूडीशियल मैजिस्ट्रेट फस्ट क्लास बिलासपुर की अदालत में पेश किया। जिस पर अदालत ने आरोपी को कई बार सम्मन जारी किए लेकिन वह अदालत में पेश नहीं हुआ । जिस पर अदालत ने छविन्द्र कुमार को 26 नवंबर, 2016 को उदघोषित अपराधी घोषित कर दिया।

पुलिस की पीओ सैल ने आरोपी को पकडऩे के लिए कई बार सुन्नी, शिमला, सोलन सहित कई स्थानों पर दबिश दी लेकिन आरोप हर बार बच निकलता रही। पी सैल ने छविन्द्र कुमार जुखाला के जब्बल के पास स्थित एक भट्टी से गुप्प सूचना के आधार पर गिरफ्तार किया। इस टीम में प्रभारी दौलत राम ने महेंद्र कपिल व रवि गौतम शामिल थे। उधर, एसपी अशोक कुमार ने बताया कि आरोपी को सदर थाना पुलिस के हवाले कर दिया गया है तथा मामले की छानबीन जारी है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams