News Flash
blue whale game

इंटरनेट प्रयोग करने वाले बच्चों पर निगरानी रखने की दी हिदायत

सोलन में इस तरह का मामला आने के बाद जागी हिमाचल पुलिस

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
ब्लू-व्हेल गेम से बच्चों को दूर रखने के लिए हिमाचल साइबर पुलिस ने प्रदेश के सभी स्कूल प्रबंधनों को एडवाइजरी जारी कर दी है। हालांकि पुलिस ने इससे पहले भी एक एडवाइजरी जारी की थी, लेकिन सोलन में मामला प्रकाश में आने के बाद फिर से सतर्क हो गई है। साइबर पुलिस ने प्रदेश के सभी निजी एवं सरकारी स्कूल प्रबंधनों को निर्देश जारी किए हैं कि वह टीन एज यानी 19 वर्ष की आयु तक के बच्चों पर निगरानी रखें। पुलिस ने स्कूल प्रबंधनों को सख्त हिदायत दी है कि स्कूल में इंटरनेट का प्रयोग करने वाले सभी बच्चों पर नजर रखें।

उल्लेखनीय है कि हाल ही में सोलन में एक ऐसा ही मामला प्रकाश में आया था, जिसमें पाया गया कि ब्लू व्हेल गेम खेलते-खेलते एक बच्चे में कलाई काटने की कोशिश की थी। साइबर पुलिस की माने तो यह इंटरनेट स्पेस गेम है, जिसमें उस बच्चे को कई चुनौतियों से गुजरना पड़ता है।

बताया गया कि इस गेम को बीच में छोड़ भी नहीं सकते हैं। जितने भी ऑप्शन आते हैं उसे फॉलो करना होता है। यही वजह है कि इस गेम को खेलते-खेलते बच्चा आत्महत्या भी कर सकता है। साइबर पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक हिमाचल में अभी तक जिला सोलन का ही एक मामला प्रकाश में आया है। ऐसे में हिमाचल साइबर पुलिस ने प्रदेश के सभी स्कूल प्रबंधनों को एडवाइजरी जारी कर टीन एज के बच्चों पर नजर रखने की हिदायत दी है।

बच्चों के हाथ में मोबाइल फोन न दें अभिभावक

हिमाचल प्रदेश साइबर पुलिस ने सभी अभिभावकों से आग्रह किया है कि वे अपने बच्चों के हाथों में मोबाइल फोन न दें। खास कर टीन एज के बच्चों को। बताया गया कि मोबाइल पर गेम खेलते-खेलते अचानक ब्लू व्हेल गेम अपलोड करने के लिए भी एप्प डाउनलोड़ करने का आप्शन आते हैं।

प्रदेश के सभी स्कूल प्रबंधनों को एडवाइजरी जारी कर दी है कि इंटरनेट का प्रयोग कर रहे बच्चों पर निगरानी रखें, हालांकि सुप्रीम कोई के आदेशानुसार पहले भी एडवाइजरी जारी की थी। अभिभावक भी अपने बच्चों के हाथों में मोबाइल फोन न दें तो बेहतर होगा। -संदीप धवल, एसपी साइबर क्राइम।

-आरपी नेगी-

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams