News Flash
Police personnel will take bribe and SHOs in charge

एसपी ने थाना व चौकी प्रभारियों को जारी किए लिखित निर्देश, पंडोगा को इंचार्ज सहित 9 कर्मियों का नया स्टॉफ

राजीव भनोट, ऊना।   पुलिस चौकी पंडोगा में हैड कांस्टेबल को एक लाख रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ दबोचने के बाद एसपी ऊना अब ऐसी गलती भविष्य में नहीं दोहराना चाहते। इसके लिए एसपी ने पहले दिन जहां पुलिस चौकी पंडोगा के पूरे स्टॉफ को लाईन हाजिर करने के निर्देश जारी किए।

वहीं दूसरे दिन भी सख्त निर्णय लेते हुए नई अधि सूचना जारी कर दी है। एसपी दिवाकर शर्मा ने नई नॉटिफिकेशन जारी करते हुए कहा कि अगर भविष्य में कोई कर्मी पुलिस स्टेशन या पुलिस चौकी में घूस मांगता पाया गया, तो संबंधित कर्मी के थाना प्रभारी व चौकी इंचार्ज को सस्पेंड कर दिया जाएगा। इसको लेकर एसपी ने सभी थाना प्रभारी व पुलिस चौकी को लिखित निर्देश जारी कर दिए गए हैं। पुलिस अधीक्षक द्वारा जारी की गई अधिसूचना से पुलिस महकमे में हडकंप से मच गया है। वहीं दूसरी ओर पंडोगा चौकी पंडोगा से लाईन हाजिर किए गए स्टॉफ के बाद मंगलवार को नए इंचार्ज सहित 9 पुलिस कर्मियों का नया स्टॉफ तैनात कर दिया गया है।
मंगलवार सुबह एसपी ऊना ने दो नए आदेश जारी किए। पहले अधिसूचना में किसी भी पुलिस कर्मी द्वारा घूस मांगने पर संबंधित थाना प्रभारी व चौकी इंचार्ज को निलंबित करने की बात कही। वहीं दूसरी अधिसूचना पुलिस चौकी पंडोगा में नए स्टॉफ की तैनाती को लेकर की गई। एसपी के नए निर्देश के अनुसार पुलिस चौकी पंडोगा में हैड कांस्टेबल सुरेंद्र कुमार नए इंचार्ज होंगे। जबकि हैड कांस्टेबल जितेंद्र सिंह, हैड कांस्टेबल संजीव, एचएचसी अमरीक सिंह, एचएचसी कुलदीप, एचएचसी परमजीत सिंह, एचएचसी राजीव कुमार, कांस्टेबल अरूण कुमार, कांस्टेबल सुनील व कांस्टेबल प्रिंस कुमार को नए स्टॉफ के रूप में तैनात किया गया है।

डीएसपी करेंगे जांच

पंडोगा पुलिस चौकी में पुलिस कर्मी प्रेम सिंह के एक लाख रुपये रिश्वत लेते हुए पकड़े जाने के मामले में उस समय चौकी में तैनात प्रभारी विशेष कुमार की क्या भूमिका है। इसको लेकर एसपी ऊना ने अलग से जांच शुरू करवा दी है। एसपी ने विभागीय जांच के निर्देश देते हुए डीएसपी ऊना अशोक वर्मा को जांच अधिकारी तैनात किया है, जो इस मामले पांच दिनों के भीतर जांच कर अपनी रिपोर्ट एसपी को देंगे।

क्या कहते है एसपी 

पुलिस अधीक्षक दिवाकर शर्मा ने कहा कि पुलिस कर्मियों का व्यवहार भ्रष्टाचार मुक्त रहे, इसके लिए निर्देश जारी किए गए हैं। ताकि आने वाले समय में भ्रष्टाचार को लेकर जीरो टॉलरेंस थानों में रहे। इसके लिए मौके के प्रभारी का दायित्व बनता है कि अपने अधीनस्थ स्टॉफ को समय-समय पर भ्रष्टाचार को लेकर जागरूक करें। उन्होंने कहा कि पुलिस का काम निष्पक्ष रूप से लोगों को न्याय देना है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams