Kullu jail

कुल्लू जेल में क्षमता के अधिक ठूंसें हैं देशी विदेशी कैदी

  • एक तरफ भवन उखाडऩे से सेवारत कर्मचारियों का रहना भी हुआ मुश्किल
  • क्षमता 33 की जेल में रखे गए हैं 85 कैदी

तारा चंद थरमाणी। कुल्लू
कुल्लू जिला की जेल से कैदियों के भागने का खतरा बन गया है। कैदियों की दिन रात निगरानी रखना जेल मे सेवारत 8 पुलिसकर्मियों के लिए भी आफत बन गया है। कुल्लू जेल के साथ लगता भवन कुल्लू सदर थाने का है। लेकिन नए भवन निर्माण के चलते जेल की तरफ बने भवन की छत उखाड़ दी है। जिस तरफ से छत उखाड़ी गई है। उस तरफ सुरक्षा दीवार को लांघकर कैदियों के लिए कोई कठिन कार्य नहीं है।

इस समय कुल्लू जेल में 10 विभिन्न देशों के 10 कैदी विदेशी है जो एनडीपीएस व विदेशी अधिनियम के तहत गिरफ्तार है। इस समय कुल्लू जेल में क्षमता से अधिक कैदी भेड़ बकरियों की तरह ठूंस-ठूंस कर रखे गए हैं। यूक्रेन, साउथ अफ्रीका, रशिया, तजानिया, नाईजीरिया, अमेरिका, इज्राईल आदि के 10 विदेशी कैदियों सहित 75 यहीं के कैदी कारवास की सजा भुगत रहे हैं। जबकि कुल्लू जेल में कैदियों के रखने की क्षमता 28 पुरुष व 5 महिलाओं सहित 33 कैदी की है। जबकि इस समय कुल्लू जेल में क्षमता से दुगना पुरुष 78 और 7 महिला कैदी सहित 85 कैदी है।

जेल से कोई कैदी भागता है तो इसकी जिम्मेवारी कौन लेगा

इतनी कम क्षमता वाली जेल में इतनी संख्या में कैदी किस तरह से रह रहे होंगे। यह अंदाज संख्या से ही लगया जा सकता है। वहीं दूसरी तरफ सुरक्षा दिवार के साथ लगते भवन को उखाडऩा कैदियों को यहां से भागने का न्यौता दे रहा है। जैसे ही भवन उखाड़ा तो जेल प्रशासन ने सुरक्षा को लेकर सदर थाना में ठेकेदार के खिलाफ शिकायत भी की है कि बिना सूचना के भवन को उखाडऩे की प्रक्रिया क्यों शुरू की। जेल से कोई कैदी भागता है तो इसकी जिम्मेवारी कौन लेगा।

शिकायत करने पर भवन उखाडऩे का काम तो बंद किया गया, लेकिन छत अभी भी उखड़ी हुई है। उसी भवन में डयूटी पर तैनात पुलिस कर्मचारी भी रहते हैं। अचानक बारिश हुई तो आठ कर्मचारियों को भी कैदियों के बीच में ही रहने पर मजबूर होना पड़ सकता है।

जेल के साथ लगते भवन को उखाडऩे का काम बंद करवाया गया है। जब तक सुरक्षा दीवार नहीं बनाई जाती है। तब तक के लिए काम को रोक दिया गया है। क्षमता से अधिक कैदी यहां है उनको अन्य जेल में स्थानांतरण करने के लिए डीजीपी को पत्र लिख दिया गया है और फंड का प्रावधान होते ही सुरक्षा दीवार का निर्माण कार्य जल्द शुरू किया जाएगा। -सन्नी शर्मा, अधीक्षक कुल्लू जेल एवं एसडीएम कुल्लू।

 

दम है तो बीजेपी भी घोषित करे CM पद के कैंडिडेट का नाम

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams