protest liquor shops

चमियाड़ी के ग्रामीणों ने प्रशासन व ठेकेदारों के खिलाफ की नारेबाजी

प्रशासन के खिलाफ भी खोला जाएगा मोर्चा

हिमाचल दस्तक। बंगाणा
उपमंडल के तहत सोलहसिंगी धार के चमियाड़ी गांव में खुल रहे शराब के ठेके के विरोध में ग्रामीण सड़कों पर उतर गई है। गांव के ग्रामीणों ने ठेके खोलने के विरोध में प्रशासन एवं ठेकेदारों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। गांव की प्रधान सुनीता खरियाल, युवक मंडल अध्यक्ष संजीव कुमार, महिला मंडल प्रधान अंकिता बन्याल, पंचायत उपप्रधान पवन कुमार सहित अन्यों का कहना है कि चमियाड़ी गांव में अनेक धार्मिक स्थल हैं, जहां आए दिन कोई न कोई धार्मिक समागम चला रहता है।

उनका कहना है कि सोलहसिंगी धार एक धार्मिक आस्था का केंद्र है। यदि सोलहसिंगी धार में शराब का ठेका खुलेगा तो जनता इसका विरोध करेगी। ग्रामीणों ने साफ शब्दों में प्रशासन को चेताया है, कि सोल्हसिंगी धार में किसी भी प्रकार की उपरोक्त ठेकेदार को शराब की दुकान खोलने की आज्ञा न दी जाए, लेकिन अगर फिर भी प्रशासन ने मनमानी की शराब के ठेकों को आग लगा दी जाएगी। ग्रामीणों द्वारा प्रशासन के खिलाफ मोर्चा भी खोला जाएगा।

क्या कहते है कैबिनट मंत्री वीरेंद्र कंवर

कैबिनट मंत्री वीरेंद्र कंवर का कहना है कि पहले भी उनके पास ऐसी शिकायत आ चुकी है और मैने प्रशासन को सचेत किया है। उन्होंने कहा कि ठेकेदारों को समझा दिया जाएगा, यदि फिर भी कोई ठेकेदार सरकार के आदेशों का उल्लंघन करता है, तो राज्य सरकार उस पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

गंगोट स्कूल के नजदीक खुले शराब ठेके के विरोध में महिलाएं हुई मुखर

हिमाचल दस्तक। चिंतपूर्णी
चिंतपूर्णी के समीपवर्ती गांव गंगोट में रावमापा स्कूल के नजदीक खुले ठेके के विरोध में महिलाएं मुखर होने लगी हैं । इसी कड़ी में महिला मंडल गंगोट और महिला मंडल मोइन की महिलाओं ने रविवार को ठेके के आगे विरोध प्रदर्शन करके अपना आक्रोश जाहिर किया। गंगोट महिला मंडल प्रधान निर्मला देवी और मोइन महिला मंडल की प्रधान सुमन लता ने बताया कि उक्त ठेका गांव के बीचों बीच खोल दिया है जो कि रावमापा भरवाईं के बिल्कुल नजदीक है जबकि कॉलेज के लिए भी यही रास्ता है।

उन्होंने बताया कि मां चिंतपूर्णी बीके मंदिर में रश बढऩे पर वाहनों की पार्किंग भी इसी स्थान पर होती है। उत्तर भारत से आने वाले सैकड़ों की तादाद में जब श्रद्धालु आकर वाहन पार्किंग करते है और माता के जयकारे लगाते हुए मंदिर की तरफ बढऩे लगते हैं तो गंगोट में सामने खुला ठेका उनकी भावनाओं को बुरी तरह आहत करता है। उन्होंने कहा कि इस ठेके को बंद करने के लिए कई बार प्रशासन और संबंधित विभाग से आग्रह कर चुके हैं परंतु उनको कानों तले जूं नही रेंग रही।

उन्होंने बताया कि उक्त ठेके से गांववासियों विशेषकर स्कूल कॉलेज आने वाले विद्यार्थियों ओर कुप्रभाव पड़ रहा है और प्रशासन ने अगर अगले शुक्रवार तक उक्त ठेके को न हटाया तो भरवाईं चौक पर महिला शक्ति चक्का जाम करेगी इसकी जिम्मेदारी पूरी तरह प्रशासन की होगी। इस अवसर पर उनके साथ ग्राम पंचायत उपप्रधान मुकेश, वार्ड पंच सौरभ सहित कई महिलाएं उपस्थित रही।

गर्म तेल में झुलसा व्यक्ति

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams