bhup singh

सराहनीय – सेवानिवृत्त माली भूप सिंह लोगों के लिए बने मिसाल

भूप सिंह के हिमाचल निर्माता डॉ. परमार हैं प्रेरणा स्रोत

आरआर अत्री। नैनाटिक्कर
सिरमौर जिले की पच्छाद तहसील के छोटे से गांव मझयाली के 72 वर्षीय भूप सिंह ने पर्यावरण को बचाने के लिए पिछले 10 साल से मुहिम चला रखी है। मजबूत इरादों के चलते भूप सिंह ने पिछले 10 साल में पौधरोपण का अभियान चलाया है। अभी तक 11 हजार के करीब पौधों का रोपण प्रदेश व देश के अन्य राज्यों में करवा चुके हैं। भूप सिंह ने अपने घर में ही विभिन्न प्रजाति के फलदार, जंगली और औषधी, पौधों की नर्सरी तैयार की है। खास बात यह है कि 10 साल से निशुल्क ही पर्यावरण संरक्षण के चलते लोगों को पौधे बांट रहे हैं।

भूप सिंह ने बताया कि यदि देश का हर परिवार एक पौधा लगाता है तो यह धरती हरी भरी रहेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश निर्माता डॉ. वाईएस परमार इस कार्य के लिए उनके प्ररेणा स्रोत हैं। पिछले 10 साल में उनकी यादगार में ही निशुल्क पौधरोपण कर रहे हैं। एनएच नाहन-शिमला पर मझयाली नामक छोटे से गांव में रहने वाले भूप सिंह मूलरूप से डॉ. वाईएस परमार के गांव लानाबाका के रहने वाले हैं।

भूप सिंह प्रदेश उद्यान विभाग में 39 साल तक बतौर माली अपनी सेवाएं दे चुके हैं

अपने प्रिय नेता की याद में अभी तक भूप सिंह ने पर्यावरण संरक्षण के के लिए 11 हजार के करीब पौधों का निशुल्क वितरण अपनी नर्सरी से किया है। प्रदेश के साथ-साथ देश के कई हिस्सों के प्रशासनिक अधिकारियों तथा बुद्धिजीवियों ने भूप सिंह के प्रयासों की सहारना की है, इसका सबूत भूपसिंह की विजिटर बुक में मौजूद है। इसके अलावा सिरमौर कला संगम द्वारा 28 जून 2015 को महाराजा राजेंद्र प्रकाश सम्मान से भूप सिंह को सम्मानित किया जा चुका है।

भूप सिंह का 6 सदस्यों का परिवार है। नाहन-शिमला एनएच पर ढाबा भी चलाते हैं। भूपसिंह के मुताबिक अभी तक राजस्थान, बिहार, गुजरात, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, प्रदेश के कई हिस्सों में उनकी नर्सरी के पौधे पहुंच चुके हैं। गौर रहे कि भूप सिंह प्रदेश उद्यान विभाग में 39 साल तक बतौर माली अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

सेवानिवृत्त के बाद भी उन्होंने अपने काम को जारी रखा और अपनी सेवा को समाजसेवा से जोड़ दिया। भूप सिंह ने बताया कि उन्हें 14 हजार रुपये पेंशन मिलती है, जिसका 30 प्रतिशत वो इस समाज सेवा के लिए खर्च करते हैं। उन्होंने बताया कि जब तक उनका शरीर काम कर रहा है तब तक इस काम को जारी रखेंगे।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams