hotel penalty

कांगड़ा, हमीरपुर और ऊना के होटलों पर हुई कार्रवाई

बिना पंजीकरण के चल रहे होटलों व गेस्ट हाउस पर गिरी पर्यटन विभाग की गाज

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। धर्मशाला

धर्मशाला स्थित पर्यटन विभाग ने जिला कांगड़ा, हमीरपुर व ऊना में बिना पंजीकरण के चल रहे होटल व गेस्ट हाउस पर शिकंजा कसा है। विभाग ने तीनों  जिलों के 74 होटलों पर कार्रवाई करते हुए उन पर 6 लाख  रुपये का जुर्माना ठोका है। विभाग ने जुर्माने की राशि को मौके पर ही वसूल कर किया है। पर्यटन विभाग की उप निदेशक सुनैना शर्मा ने मंगलवार को बताया कि विभाग को सूचना मिली कि तीनों जिलों में बिना पंजीकरण के होटल चल रहे हैं जो पर्यटकों से मनमाना पैसा वसूल कर रहे हैं।

उन्होंने बताया जिला कांगड़ा, ऊना व हमीरपुर क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले 74 निजी होटलों पर अनियमितताएं पाए जाने पर विभाग द्वारा जुमार्ना वसूल करके राजस्व विभाग में जमा करवा दिया गया है। उन्होंने बताया कि इनमें से कुछ ऐसे भी होटल चल रहे थे, जिनका एक बार तो पंजीकरण करवाया गया था। लेकिन उस पंजीकरण का नवीनीकरण नहीं करवाया गया था।

पर्यटन विभाग का डंडा उन होटलों पर भी चला है, जहां पर लोगों से मनमाने दाम वसूले जाते हैं

उन्होंने बताया कि पर्यटन विभाग का डंडा उन होटलों पर भी चला है, जहां पर लोगों से मनमाने दाम वसूले जाते हैं और होटल मालिकों द्वारा किसी भी तरह की रेट लिस्ट नहीं लगाई जाती है। उन्होंने बताया कि आने वाले समय मे भी जिन होटलों में अनियमितताएं पाई जाएंगी, पर्यटन विभाग द्वारा उन पर कड़ी करवाई अमल में लाई जाएगी।

उपनिदेशक ने बताया कि सरकार और विभाग ने पर्यटन व्यवसाय से अपनी आजीविका चलाने वाले लोगों के लिए पर्यटन विभाग के कार्यालय में पंजीकरण की सुविधा दी है। लेकिन कुछ लोग विभाग को गुमराह कर रहे हैं। सुनैना शर्मा  के अनुसार यही भी पाया कि कमरों के किराए को भी होटलों के संचालक सही ढंग से नहीं भर रहे थे। ऐसे में विभाग को भी टैक्स में काफी चूना लग रहा है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams