News Flash
Sacred diameter will not be allowed to become contaminated - Arun Sharma

नगर परिषद कुल्लू अपने कचरे की और जगह करे व्यवस्था,  सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की भी अवहेलना कर रही है कुल्लू नगर परिषद

हिमानी ठाकुर। कुल्लू। सदानीरा पवित्र व्यास नदी को किसी भी सूरत में दूषित होने नहीं दिया जाएगा। मौहल में तो अब कूड़े के फैंकने की आदत को नगर परिषद कुल्लू को भूलना ही होगा।

प्रदेश कांग्रेस महासचिव अरूण शर्मा का कहना है कि नगर परिषद कुल्लू को सुप्रीम कोर्ट दशहरा उत्सव में छूट थी जोकि अब नहीं मिलेगी। माननीय कोर्ट ने नगर परिषद और डंपिंग साइट देखने के निर्देश भी दिए हैं, लेकिन नगर परिषद कुल्लू के पार्षद व अधिकारी इतने कमजोर हैं कि वह पिछले दो सालों से डंपिंग साईट को ही नहीं देख पाए हैं। ऐसे में सहज ही यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि नगर परिषद कुल्लू के पार्षद अपने शहर के लोगों की सुख सुविधाओं के ध्यान को किस कद्र रख रहे हैं। उल्लेखनीय है कि नगर परिषद कुल्लू के उपाध्यक्ष गोपाल कृष्ण महंत ने यहां तक विश्वास दिलाया था कि शहर का कूड़ा-कचरा मनाली डंपिंग साईट को भेजा जाएगा। लेकिन कुल्लू शहर के विभिन्न बार्डों की ओर नजर दौड़ाई जाए तो सब जगह कूड़े के ही ढेर लगे हुए है।
लोगों का कूड़ेदानों की ओर से निकलना भी काफी दूभर हो गया है। ऐसे में अब मौहल क्षेत्र के लोगों ने भी साफ कर दिया ह कि नगर परिषद को यहां पर कूड़ा फैंकने नहीं दिया जाएगा। इतना ही नहीं नगर परिषद कुल्लू जिस स्थान पर कूड़े को फैंकती है उस स्थान पर आधे से ज्यादा कचरा तो सदानीरा व्यास नदी में ही बहता है जिसके चलते भी लोगों को दिक्कतें आती है। वहीं, यहां पर पवित्र व्यास नदी को गंदा कर माननीय एनजीटी के आदेशों की भी जमकर अवहेलना की जाती है। ऐसे में मौहल वासियों ने नगर परिषद कुल्लू को चेतावनी भी दे डाली है कि यहां पर कूड़ा-कचरा फैंकना तो दूर नगर परिषद इस बारे सोचे भी न। अन्यथा मौहल क्षेत्र के लोगों द्वारा यहां पर उग्र रूप से किसी आंदोलन को भी अंजाम दिया जा सकता है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams