News Flash
pat teacher anuradha

शिमला जिले की हाजल प्राथमिक स्कूल में है कार्यरत

राज्य स्तर पर चमकाया स्कूल का नाम

हिमाचल दस्तक। ठियोग
कौन कहता है आसमाँ में सुराग नहीं होता एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारो ऐसा ही जज्बा लेकर सरकारी स्कूलों की तस्वीर बदलने का काम कर रही है अनुराधा कश्यप। जी हाँ इस शिमला जिले की प्राथमिक पाठशाला हाजल में गत 12 वर्षो से शिक्षा की लौ जला रही पैट शिक्षिका अनुराधा के पढ़ाने का तरीका अलग है।

शिक्षा में नवाचार का प्रयोग कर और शिक्षक अधिगम प्रक्रिया को रोचक बनाकर अनुराधा ने पुरे राज्य जिला और में अपने स्कूल का नाम रोशन किया है। अनुराधा कश्यप के प्रयासों के कारण फिर से क्षेत्र के लोगों का भरोसा सरकारी स्कूलों में लौटा है। सरकारी स्कूलों में की घटती बच्चों की संख्या के बीच यह एक उम्मीद बनकर उभरी है।

ये है मुख्य उपलब्धियाँ

अनुराधा ने हाजल स्कूल में 2006 से पढ़ाना शुरू किया। उसी साल खण्ड स्तर पर विद्यालय की छात्रा सोनाली को पांचवी में खण्ड स्तर पर पहला स्थान प्राप्त हुआ। 2013,14,15 में एकांकी नाटक में विद्यालय के छात्रों ने राज्य स्तर पर पहला स्थान प्राप्त किया। इसी स्पर्धा में 2014 में स्कूल के लक्ष्य कश्यप को बेस्ट एक्टर जबकि छात्रा सिमरन को बेस्ट एक्ट्रेस चुना गया।

2009,10,2015 में राज्य स्तरीय टीएलएम प्रतियोगिता में स्कूल को पहला स्थान मिला। 2013,14,15 में उन्हें बेस्ट टीचर के तौर पर केंद्र स्कूल गड़कहन में सम्मानित किया गया। 2016 में राज्यपाल आचार्य देव व्रत में एकांकी के लिए प्रशस्ती पत्र दिया। शिक्षा निदेशक ने भी प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया।

12 साल में नहीं भी नियमित नहीं

अनुराधा कश्यप 12 साल से इसी स्कूल में कार्यरत है। कारण यह है कि वह अभी तक पैट के रूप में कार्यरत है। अभी तक जे बी टी के पद पर नियमित नहीं हो पाई है। उनका कहना है कि 12 साल से पैट शिक्षकों का शोषण हो रहा है। सबसे तकलीफ उन्हें तब होती है जब कोई उन्हें बैकडोर शिक्षक कहता है।

उन्होंने समस्त पैट शिक्षकों की तरफ से सरकार से उन्हें नियमित करने की मांग की है। अनुराधा अपनी सफलता का श्रेय अपने माता पिता और गुरुजनों को देती है। अनुराधा को कविता और पेंटिंग का बहुत शौक है। बच्चों को पढ़ाने में भी इसे आजमा रही है।निश्चय ही अनुराधा अन्य सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है।

रिपोर्टर – सुनील

यह भी पढ़ें – आज गोईस गांव में खुशी का माहौल….वजह है खास

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams