Shashnag

44 साल बाद हो रहा है नए देवरथ का निर्माण

हजारों श्रद्धालु बनेंगे ऐतिहासिक क्षण के गवाह

समारोह में16 देवी-देवताओं के कारकून लेंगे भाग

मोहन लाल ठाकुर। बंजार

बंजार उपमंडल की जिभी घाटी की दो खाड़ागाढ़ व तिलोकपुर कोठियों के अधिष्ठाता देवता गढ़पति मूल शेषनाग के 44 वर्ष बाद बन रहे नए देवरथ के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में कुल्लू व मंडी जिला के16 देवी-देवताओं के कारकून व देवलू भाग लेंगे। शेषनाग के नए देवरथ का निर्माण कार्य 6 दिसंबर से आरंभ किया गया है। इसे 8 दिनों में कुशल कारीगरों के द्वारा अंगाह की लकड़ी व तांवे की धातु से पूरा किया जा रहा है। 29 मार्गशीर्ष 14 दिसंबर को नए देवरथ की प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी और 15 दिसंबर को जिभी में शाही धाम का आयोजन किया जाएगा।

इस ऐतिहासिक क्षण के गवाह हजारों श्रद्धालु व भक्तजन बनेंगे। गढ़पति मूल शेषनाग के नए देवरथ के निर्माण को लेकर कोठी खाड़ागाढ़ व तिलोकपुर के सैकड़ों हारियान आस्था के सैलाब में डूबे हुए हैं। इस कार्य को दिनरात पूरा करने में व्यस्त हैं। शेषनाग के हारियानों ने इस समारोह के सफल आयोजन के लिए 300 से भी अधिक लोगों की तैनाती सजावट व्यवस्था, अतिथि सत्कार, भोजन व्यवस्था, पेयजल व्यवस्था, विद्युत व्यवस्था, अनुष्ठान व्यवस्था, इंधन व्यवस्था व सफाई व्यवस्था और प्रशासनिक व्यवस्था आदि अनेक कमेटियों ने की है, ताकि किसी भी श्रद्धालु व हारियान को अव्यवस्था का सामना न करना पड़े।

इस देवरथ के निर्माण की प्रक्रिया में व्यस्त कारदार सत्यदेव नेगी, भंडारी लोभूराम, काइथ भादर सिंह, गूर पूर्ण चंद, पुरोहित गोभिंद्र सिंह, पुजारी पुनेराम तथा शेषनाग के तीनों क्षेत्रों मिहार बहढ़ के कारदार प्रेमदास व दरोगा प्यारे सिंह, और बृतदार केहर सिंह के अनुसार 44 वर्ष बाद बन रहे शेषनाग के नए देवरथ के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में कुल्लू व मंडी के 16 देवी देवताओं के कारकूनों व हारियानों को आमंत्रित किया गया है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams