ShriMad Bhagwat Katha

अजीत सिंह मंडयाल व गजेंद्र सिंह मंडयाल के निवास स्थान पर श्रीमद भागवत कथा का आयोजन

अमित सूद। जोगिंद्रनगर

बालकरूपी गांव में पिछले 6 दिनों से चल रही श्रीमद भागवत कथा के वाचन पं जगदीश कश्यप ने शनिवार को श्री कृष्ण लीलाओं के बाद श्रीकृष्ण और सुदामा के मधुर मिलन का बहुत ही सुंदर वर्णन किया। उन्होनें श्री कृष्ण की रास लीलाओं, सुदामा की आव भगत का वृतांत सुनाया। उन्होनें कहा कि भागवत पुरान श्री कृष्ण के साक्षात शब्द की मूर्ति है।

श्रीमद भागवत महापुराण ऐसा फल है जिसमें न गुढली है न ही छीलका, बस रस ही रस है। उन्होनें कहा कि जब भगवान श्री कृष्ण स्वर्ग गमन कर रहे थे तो उनका तेज भागवत महापुराण में समां गया था। जिसके परिणाम स्वरूप श्रीमत भागवत महापुराण की कथा का श्रवण करने से बडा से बडा पापी भी मोक्ष को प्राप्त पा लेता है।

गौरतलब है कि बालकरूपी निवासी अजीत सिंह मंडयाल व गजेंद्र सिंह मंडयाल ने निवास स्थान पर उनकी माता स्व लक्ष्मी देवी मंडयाल व पिता स्व प्रेम सिंह मंडयाल कि स्मृति में सोमवार 10 जून से रविवार 16 जून तक बालकरूपी (गरोडू) जोगिंद्रनगर में श्रीमद भागवत कथा का आयोजन किया जा रहा है। उन्होनें बताया कि रविवार 16 जून 2019 को प्रात: 11.30 बजे हवन की पुर्णाहुति डाली जाएगी, तत्पश्चात दोपहर 12 बजे से आम जनमानस के लिए विशाल भंडारे का आयोजन किया जाएगा। उन्होनें क्षेत्रवासियों से श्रीमद भागवत कथा में पूर्ण रूप से भाग लेने एवं विशाल भंडारे का प्रसाद ग्रहण करने की अपील की है

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams