rakhi

Rakhi के लिए सुबह 11.05 तक भद्रा नक्षत्र के बाद पूरा दिन शुभ

आशा शर्मा, घुमारवीं।। रक्षाबंधन के पवित्र पर्व पर बहनें अपने भाईयों को 11 बजे के बाद पूरा दिन Rakhi बांध सकेंगी। पंडित दुर्वाशा के मुताबिक लोगों में आशंका बनी हुई है कि इस बार रक्षा बंधन का यह पवित्र पर्व इस बार सिर्फ पौने तीन घंटे तक ही मनाया जा सकता है।

बहनों के मन में आशंका को दूर करते हुए पंडित ने बताया कि चंद्र ग्रहण होने के चलते वह 11 बजे के बाद पूरा दिन राखी नहीं बांध सकेंगी। क्योंकि 7 अगस्त को सुबह भद्रा और फिर चंद्रगहण का सूतक लगने से यह स्थिति बन रही है। रक्षाबंधन के लिए सुबह 11:05 बजे तक भद्रा है। भद्रा में भाई को Rakhi नहीं बांधी जाती है।

चंद्र ग्रहण मेष, सिंह, वृश्चिक, मीन राशि वालों के लिए शुभ

पंडित मदन लाल दुर्वाशा के अनुसार रक्षाबंधन नियत काल में होने से भद्रा को छोड़ कर ग्रहण के दिन भी होली के समान ही होता है। ग्रहण का सूतक अनियतकाल के कर्मो में लगता है जबकि Rakhi श्रावण सुदी पूर्णिमा को ही मनाया जाता है।

रक्षा बंधन को न पहले दिन न दूसरे दिन मनाया जाता है। उसी दिन मनाया जाता है इसलिए नियत कर्म होने के कारण इसको ग्रहण का दोष नहीं लगता है।उन्होंने कहा कि चंद्र ग्रहण मेष, सिंह, वृश्चिक, मीन राशि वालों के लिए शुभ है।

रक्षाबंधन को बजारों में बढ़ी रौनक

रक्षाबंधन को लेकर बजारों में खूब चहल पहल हो गई है। 7 अगस्त को मनाए जाने वाले इस त्योहार को लेकर बहने अपने भाईयों के लिए राखियों की खरीददारी में जुटी हैं। शनिवार को घुमारवीं बाजार में पूरा दिन रौनक रही। रखियों की दुकानों के साथ मिठाई की दुकानों में खूब खरीददारी की गई। रक्षाबंधन के पवित्र पर्व को लेकर बाजार में दुकानों को भी खूब सजाया गया है।

ये भी पढें:- रक्षाबंधन पर राखियों से सजी हमीरपुर की Market

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams