teachers

कंप्यूटर शिक्षक संघ हैरान, लगाई लताड़

नाइलेट ने टीचर्स को 40 लाख किए जारी, नाम के साथ लिस्ट भी की जारी

दीपिका शर्मा। शिमला 

शिक्षक संघों में से सबसे लंबी कंप्यूटर शिक्षकों की क्रमिक अनशन हड़ताल में 600 शिक्षक ऐसे सामने आए हैं, जो हड़ताल के दौरान गुपचुप तौर पर स्कूल जाते रहे। हालांकि शिक्षक संघ उस समय यह दावे करता था कि उनके साथ प्रदेश के सभी 1153 कंप्यूटर शिक्षक हड़ताल पर हैं और स्कूलों में कंप्यूटर की पढ़ाई बंद है। लेकिन उस समय संघ भी हैरान रह गया जब नाइलेट कंपनी ने जून से दिसंबर के माह में कंप्यूटर शिक्षकों की हड़ताल के दौरान 600 उन शिक्षकों की लिस्ट जारी कर दी जो उन छह माह के भीतर स्कूल गए थे।

जानकारी के मुताबिक, इन कंप्यूटर शिक्षकों की नाम के साथ नाइलेट कंपनी ने लिस्ट जारी कर दी है। कंपनी ने 40 लाख का वेतन भी जारी कर दिया है। संघ के प्रेस सचिव राजेश शर्मा का कहना है कि उन्हें मालूम नहीं था कि इस एकजुटता के  आंदोलन में कुछ शिक्षकों द्वारा ऐसा किया जा रहा है। हालांकि अब मंडी के सिराज से सीनियर सेकेंडरी स्कूल में कार्यरत हेतराम ठाकुर को संघ के अध्यक्ष की कमान सौंपी है।

इनकी अध्यक्षता में शिक्षकों के लिए आगामी नीति बनाने के आंदोलन को आगे बढ़ाया जाएगा। संघ ने ऐसे शिक्षकों को लताड़ लगाते हुए कहा है कि उनके सबसे आंदोलन के बाद ही कंप्यूटर शिक्षकों के वेतन में बढ़ोतरी हो पाई थी। जूनियर वर्ग को  5 से  9 हजार और सीनियर को दस से पंद्रह हजार रुपये दिया जा रहे हैं। कंप्यूटर शिक्षक संघ का आंदोलन चार जून से शुरू होकर 24 दिसंबर तक चला था। इस दौरान मुख्यमंत्री ने क्रमिक अनशन आंदोलन समाप्त करवाया था।

एक दिन आंदोलन और बाकी दिन स्कूल

संघ ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा है कि इस तरह से आंदोलन भविष्य में भी कमजोर पड़ता है, जिससे शिक्षक अपनी आवाज बुलंद नहीं कर पाते हैं। ये सामने आया है कि इसमें कुछ शिक्षक  संघ को दिखाने के लिए एक दिन आंदोलन पर आते थे, बाकी दिन गुपचुप तौर पर स्कूल जाते थे। इस बारे में स्कूल पिं्रसिपलों ने उस दौरान चुप्पी साध रखी थी।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams