Raid

SP ने भी दी रिपोर्ट, ठीक नहीं स्कूल के आसपास का माहौल

लालपानी स्कूल के आसपास शराब और नशा बेचने का मामला

विधि संवाददाता। शिमला
शराब माफिया और तस्करों द्वारा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल लालपानी के नजदीक अवैध शराब और मादक पदार्थ सप्लाई करने की बात का प्रदेश हाई कोर्ट ने कड़ा संज्ञान लिया है। वीरवार को हुई सुनवाई के पश्चात कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश संजय करोल और न्यायाधीश संदीप शर्मा की खंडपीठ ने SP शिमला को दोपहर 2 बजे न्यायालय के समक्ष हाजिर होने के आदेश दिए। एसपी शिमला 2 बजे कोर्ट के समक्ष हाजिर हुई। कोर्ट ने SP शिमला को आदेश कि वह वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल लालपानी का दौरा कर जायजा ले।

SP शिमला सौम्या सांबशिवन, हाइकोर्ट की अधिवक्ता अर्चना दत्त और कोमल चौधरी ने स्कूल का दौरा किया। दौरा करने के बाद SP ने न्यायालय को बताया कि स्कूल का वातावरण संतोषजनक नहीं है। उन अपराधियों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई किया जाना अति आवश्यक है जो इस इलाके में अवैध शराब और मादक पदार्थों की सप्लाई स्कूल में पढऩे वाले विद्यार्थियों को कर रहे हैं।

हाईकोर्ट ने एसपी को आदेश दिए कि वह स्कूल के इर्द-गिर्द किए गए निरीक्षण बाबत स्टेटस रिपोर्ट न्यायलय के समक्ष दायर करें। मामले पर सुनवाई अब 17 अगस्त को होगी। ज्ञात रहे हाई कोर्ट ने पहले ही शिक्षा संस्थानों के मुखिया को आदेश दे रखे हैं कि वे ये सुनिश्चित करें कि उनके संस्थान ड्रग्स फ्री हों। प्रदेश के पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिए गए हैं कि वे सादे कपड़ों में पुलिस अफसरों को शिक्षा संस्थानों के नजदीक तैनात करें। कोर्ट ने मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे ये सुनिश्चित करें कि कोई भी केमिस्ट 18 वर्ष से कम आयु के बच्चों को नशीली दवाई न बेचे।

इन जिलों में लगाओ ईमानदार पुलिस अफसर

हाईकोर्ट ने कांगड़ा, कुल्लू, शिमला, चंबा और मंडी जिलों में मादक पदार्थों के मामलों की छानबीन हेतु ईमानदार पुलिस अधिकारियों को नियुक्त करने के आदेश भी जारी किए हैं। कोर्ट ने सतर्कता विभाग को आदेश दिए हैं कि वह हर छह महीने में मादक पदार्थों की छानबीन करने वाले कर्मियों की संपत्तियों की जानकारियां हासिल करें।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams