small kashi

सौंदर्यीकरण के नाम पर और भी बदहाल हो गया मंडी शहर

देवेंद्र गुप्ता । मंडी
मंडी शहर में एडीबी के कर्ज पर जिस तरह से पर्यटन विभाग शहर का सौंदर्यीकरण कर रहा है। उस पर अब सवाल उठना शुरू हो गए हैं । शहर के सौंदर्यीकरण से खुबसूरती के दावे तो हो रहे हैं, मगर धरातल में जो काम सही से होना चाहिए था वह दिख नहीं रहा है। मंडी शहर की शान कही जाने वाले मंडी की इंदिरा मार्केट के छत पर मार्बल तो बिछ गया । मगर सच ये भी है कि मार्केट में हल्की बारिश हो तो छत टपकना शुरू हो जाती है।

आलम यह है कि क्या मार्बल का इतना बोझ मार्केट सहन कर पाएगी। सबसे बड़ी बात है कि मार्केट में एडीबी के पैसे से न छत बदल पाए और न ही और काम हुआ । कुछ लोगों का कहना है कि छत पर मार्बल तो बिछा दिया, मगर अभी भी छत पर इतना मलबा पड़ा है कि कही भी कोई घायल हो सकता है। जनता को दिखाने के लिए सजावटी बल्ब जरूर लग गए है।

क्या कहती हैं पर्यटन अधिकारी

इस बारे में पर्यटन अधिकारी स्मृति ने बताया कि यह काम उनके अंर्तगत नहीं आता है, जबकि इसके लिए एक और विंग है जो इस काम को देखता है ।

पान की पीक से लाल इंदिरा मार्केट की छत

इंदिरा मार्केट की छत पर जगह-जगह पीक और पान के धब्बे दिखाई देते हैं । ऐसे में सवाल ये उठता है कि लाखों रुपये खर्च करने के बाद भी गंदगी जस की तस है। जब से एडीबी ने इस पर काम शुरू किया है नगर परिषद ने इस पर से ध्यान हटा दिया है ।

पर्यटकों के लिए नहीं बना हेरिटेज पाथ

पर्यटकों के लिए बने वाला हेरिटेज पाथ भी अब तक नहीं बन पाया है, जबकि शहर में चौहटा में जिस तरह से अव्यवस्था करके काम किया जा रहा है। उससे आम आदमी का चलना मुश्किल हो गया है। हालांकि अब कुछ दिनों से हालत सुधर रही है। मगर जिस तरह से सौंदर्यीकरण के नाम पर पैसा बहाया जा रहा है उसका कोई फायदा नहीं दिचा रहा है । शहर का सबसे बड़े मंदिर भूतनाथ में एडीबी का एक रुपये का काम नजर नहीं आता है ।

सड़़क पर सीवरेज की गंदगी, परेशान शहर

मंडी शहर में सीवरेज की गंदगी कहीं से भी निकल जाए यह कोई बड़ी बात नहीं है। कई बार तो टैंक गंदगी उगलना शुरू कर देते हैं। जिस चौहटा बाजार के सौंदर्यीकरण के लिए लाखों खर्चे जा रहे हंै । उसी चौहटा में होटलों की गंदगी सीवरेज के नाले में बहने के बजाय सड़क पर बिखरती है । मजे की बात है कि सीवरेज के उपर आईपीएच विभाग को कोई नियंत्रण नहीं है ।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams