News Flash
students failed

दो पेपरों में फेल छात्रों के लिए सुनहरा मौका

  • दूसरे चांस में फेल परीक्षार्थी पाएंगे जून में गोल्डन चांस
  • शिक्षा मंत्री बोले इस मौके का लाभ उठाएं छात्र-छात्राएं

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि इस बार राज्य सरकार के दिशा निर्देश अनुसार राज्य स्कूल शिक्षा बोर्ड ने हजारों बच्चों का एक साल बचा लिया है। मार्च, 2019 की वार्षिक परीक्षाओं में दो पेपरों में फेल अभ्यर्थियों को जून माह में परीक्षा देने का मौका मिलेगा। 10वीं और 12वीं में दो पेपरों में फेल अभ्यर्थी भी जून में होने वाली परीक्षाओं में बैठ सकेंगे। भारद्वाज ने कहा कि इस फैसले से हजारों छात्रों को एक साल बचाने का मौका मिलेगा। इन्हें अगली कक्षा में जाने का सुनहरा मौका दिया गया है।

जो छात्र मार्च में हुई कंपार्टमेंट के दूसरे चांस की परीक्षा में फेल हुए थे, वे भी इस परीक्षा के जरिए गोल्डन चांस पा सकेंगे। दो चांस में कंपार्टमेंट न तोड़ पाने वाले अभ्यर्थी भी जून में होने वाली परीक्षा में बैठ सकते हैं। बोर्ड शीघ्र ही जून में होने वाली वार्षिक परीक्षाओं को आवेदन करने सहित इसका शेड्यूल जारी कर देगा। भारद्वाज ने कहा कि इस बार रिकॉर्ड समय में बोर्ड ने दसवीं और 12वीं के रिजल्ट घोषित किए हैं। 10वीं की परीक्षा में 1,11,980 परीक्षार्थी बैठे थे, जिनमें से 67,319 पास हुए।

6,395 परीक्षार्थी कंपार्टमेंट और शेष करीब 38,266 बच्चे फेल हुए। 12वीं में 95,492 परीक्षार्थियों में से 58,949 परीक्षार्थी पास घोषित हुए। 16,102 को कंपार्टमेंट और करीब 20,441 परीक्षार्थी फेल हुए। बोर्ड के इस फैसले से फेल और कंपार्टमेंट के अंतिम चांस में भी पास न होने वाले हजारों परीक्षार्थियों का एक साल बचेगा।

सरकार ने बोर्ड के अधिकारियों को आदेश दिए थे कि बच्चों को गोल्डन चांस पर जल्दी फैसला लिया जाए। अब यह राहत परीक्षार्थियों को मिल गई है, इसलिए मन लगाकर पढ़ाई करके सभी पात्र छात्र इस गोल्डन चांस का फायदा उठाएं। जून में होने वाली इस परीक्षा के कारण यह बच्चे अगली कक्षा में दाखिला ले पाएंगे।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams