News Flash
students iit mandi

इंटर आईआईटी टेक मीट में होनहारों ने जीता कांस्य पदक, 22 टीमों ने लिया भाग

हिमाचल दस्तक। मंडी
आईआईटी मंडी के स्पेस टेक्नोलॉजी एवं एस्ट्रोनोमी क्लब (एसटीएसी) ने मुंबई आईआईटी में आयेाजित इंटर आईआईटी टेक मीट के स्टार क्लस्टर आइडेंटिफायर हैकाथॉन प्रतियोगिता में कांस्य पदक हासिल किया है। इस प्रतियोगिता में विभिन्न आईआईटी से आई कुल 22 टीमों ने भाग लिया। आईआईटी मंडी के चार विद्यार्थियों की टीम ने आयोजन केंद्र पर ही 6 घंटों के अंदर ‘स्टार क्लस्टर आइडेंटिफायर’ पर प्रोजेक्ट तैयार कर लिया।

समय पर प्रोजेक्ट तैयार करने का यह कारनामा स्कूल ऑफ कंप्युटिंग एवं इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग के तीसरे वर्ष के विद्यार्थी श्रेयस बापट, चौथे वर्ष के विद्यार्थी इंद्रेश कुमार, चौथे वर्ष के विद्यार्थी स्वप्निल शर्मा और दूसरे वर्ष के विद्यार्थी आकाश ने कर दिखाया। इस उपलब्धि पर प्रतिभागी श्रेयस बापट ने बताया कि इस प्रतिस्पर्धा में भाग लेना बहुत अच्छा अनुभव रहा। पिछले दो वर्षों में हम क्रमश: चौथे और पांचवें स्थान पर रहे और इस वर्ष हमारा लक्ष्य एक मेडल जीतना था।

कुल मिला कर यह हैकाथॉन दिलचस्प रहा। इस बार पहले से ज्यादा कठिन प्रश्न आए और प्रॉब्लम स्टेटमेंट ने हमें चकित कर दिया क्योंकि यह सीधे आयोजन केंद्र पर हमारे सामने रख दिया गया। हमारी टीम में दूसरे, तीसरे और चौथे वर्ष के विद्यार्थी थे। स्पेस टेक्नोलॉजी एवं एस्ट्रोनोमी क्लब (एसटीएसी) के को-कॉर्डिनेटरों के 3 जेनरेशन एक साथ मौजूद रहे। इस अनुभव से बहुत सीखा और हमारा लक्ष्य अगले वर्ष इंटर आईआईटी मीट में स्वर्ण पदक हासिल करना है। टीमोथि ए गॉसालविस निदेशक आईआईटी ने कहा कि यह उपलब्धि आईआईटी मंडी के लिए बड़ी है। छात्रों ने कांस्य पदक जीतकर अपनी प्रतिभा को उजागर किया है। विजेताओं को जीत की बधाई देता हूं।

प्रोजेक्ट में ये रहे शामिल

पदक दिलाने में मुख्य आकर्षण में स्टार क्लस्टरों का विश्लेषण, किसी स्टार के जीवनकाल की अभिव्यक्ति जानना, एक्स-रे ऑब्जर्वेशन के ऑप्टिकल काउंटरपार्ट की खोज दिखाना शामिल रहा। आईआईटी मंडी की टीम ने एक शोध पत्र ‘निकटतम अल्ट्रा-ल्युमिनस एक्स-रे सोर्सेज के ऑप्टिकल काउंटरपार्ट’ को कार्यरूप दिया जिससे इस टीम को बढ़त मिली।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams