News Flash
rickshaw vehicle

कुल्लू के देवधाम में हुआ ट्रायल

भविष्य में पर्यावरण मित्र वाहनों का ही होगा प्रचलन : शालिनी

हिमाचल दस्तक। कुल्लू
हिमाचल पथ परिवहन निगम ने जहां प्रदेश में इलेक्ट्रिक बसों की शुरुआत की है। वहीं, वेदेज गु्रप ने पहली बार हिमाचल में ई-रिक्शा व ई-वाहन का सफल ट्रायल किया है। यह ट्रायल वीरवार को कुल्लू जिला मुख्यालय के समीप देवधाम में किया गया। एसपी कुल्लू शालिनी अग्रिहोत्री ने मुख्यातिथि के रूप में उपस्थित रही।

आरएम कुल्लू मंगल चंद मनेपा, डीपीआरओ कुल्लू शेर सिंह शर्मा, एपीआरओ कुल्लू अनिल गुलेरिया विशेष अतिथि के रूप में मौजूद रहे। इस मौके पर वेदेज गु्रप के फाउंडर राम शर्मा ने ई-रिक्शा व ई-वाहनों की जानकारी दी। वेदेज गु्रप के कंट्री हेड नवनीश चोपड़ा विशेष रूप से उपस्थित रहे। इस मौके पर मुख्यातिथि शालिनी अग्निहोत्री ने कहा कि भविष्य में पर्यावरण फ्रेंडली वाहनों का ही प्रचलन होगा।

पथ परिवहन निगम ने जहां इस तरह के बड़े वाहनों की शुरुआत की है व वेदेज गु्रप ने जिस तरह से छोटे वाहनों ई-रिक्शा, ई-स्कूटी, ई-लोडर, ई-कार का प्रचलन शुरू किया है। यह काबिले तारीफ है। उन्होंने कहा कि भविष्य में इस तरह के ही वाहनों का प्रचलन होगा, क्योंकि हिमालय को ही नहीं बल्कि पूरे विश्व को पर्यावरण के दुष्प्रभावों से बचाना है। वेदेज गु्रप के फाउंडर राम शर्मा ने बताया कि अभी तक ई-रिक्शा व ई-वाहन देश के 14 राज्यों में चल चुके हैं और उम्मीद है कि भारत सरकार की योजना के तहत 2030 तक पूरे देश में ई-रिक्शा का ही प्रचलन होगा।

मात्र 12 रुपये के इलेक्ट्रिक चार्ज खर्चे से इस तरह के वाहन 100 किलोमीटर तक चल पाएंगे

उन्होंने कहा कि हिमाचल में मात्र 12 रुपये के इलेक्ट्रिक चार्ज खर्चे से इस तरह के वाहन 100 किलोमीटर तक चल पाएंगे। वीरवार को कुल्लू में इलेक्ट्रिक वाहनों का ट्रायल पूरी तरह से सफल रहा है। यह ट्रायल कुल्लू के देवधाम में आयोजित एक सादे समारोह में हुआ। कुल्लू के दुर्गम गांव के युवा राम शर्मा ने आयुर्वेद व आर्गेनिक खेती के विषय में बैंकॉक में थाईलैंड के प्रधानमंत्री से अंतरराष्ट्रीय युवा व्यवसायी पुरस्कार हासिल किया है। वहीं, अब इस युवा ने देश को इलेक्ट्रिक वाहन देने का मन बनाया है।

राम शर्मा ने बताया कि उन्होंने पर्यावरण को बचाने के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रचलन को शुरू किया है। राम ने दिल्ली में ई-रिक्शा वाहनों को लांच किया है। अब कुल्लू में इन वाहनों की शुरुआत की गई। भारत सरकार द्वारा सितंबर 2016 में इसकी गाइडलाइन जारी कर दी गई है, जिसे राज्य सरकारें अपने अपने राज्यों में लागू करने में जुट गई हैं।

इस कड़ी में कुल्लू के निवासी राम शर्मा ने 2014 में वेदेज गु्रप संस्था की स्थापना की और चंडीगढ़ से पूरे देश में आयुर्वेद, ओर्गानिक खेती को बढ़ावा देने के साथ अब आने वाले वक्त में पर्यावरण को बचाने के लिए इलेक्ट्रिक वाहन को लाकर एक नई पहल की है। उन्होंने बताया कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि पहाड़ी राज्य में ई-वाहन कामयाब होंगे और भविष्य में ई-वाहनों के प्रचलन से यहां के पर्यावरण को बचाया जा सकेगा।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams