News Flash
Surya Prachanda: Una 45 degrees crossing, Shimla also came to boil

आसमान से बरसती आग से तपे पहाड़, मैदानों में लू,  11-12 जून को अंधड़ की यलो वार्निंग

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला : आसमान से बरसती आग से पहाड़ भी पसीना-पसीना हो गए हैं। मैदानी इलाकों में गर्मी कहर बनकर टूट रही है। सोमवार को पांच जिलों का पारा 40 डिग्री से अधिक रहा, जबकि ऊना में तो अधिकतम तापमान 45.2 डिग्री रिकॉर्ड हुआ। यही नहीं पहाड़ों की रानी राजधानी शिमला तक का पारा इस साल पहली बार 30 डिग्री को छू गया है, जहां का अधिकतम तापमान 30.3 डिग्री रहा।

दूसरी तरफ मौसम विभाग ने अगले दो दिन राज्य के अनेक क्षेत्रों में तेज अंधड़ के साथ बारिश का यलो अलर्ट जारी किया है। बिलासपुर, कांगड़ा, सुंदरनगर और हमीरपुर में अधिकतम तापमान 40 डिग्री से लेकर 42 डिग्री सेल्सियस तक रिकॉर्ड किया गया। इसके अलावा सोलन का पारा 37 डिग्री पहुंच गया, जबकि आमतौर पर ठंडे रहने वाले पर्यटन स्थल डलहौजी में भी अधिकतम तापमान 25 डिग्री पहुंच गया।

इसके अलावा भुंतर में अधिकतम तापमान 38.2, चंबा में 37.9, कल्पा में 24.9 और केलंग में 23.2 डिग्री दर्ज किया गया। उधर, मौसम विभाग की मानें तो अगले 24 घंटों के दौरान मौसम में बदलाव आने से गर्मी का प्रकोप कुछ हद तक कम हो सकेगा।

मौसम विभाग शिमला के निदेशक मनमोहन शर्मा ने बताया कि 11 व 12 जून को प्रदेश के मैदानी और मध्यवर्ती इलाकों में अंधड़ के साथ तेज बारिश की आशंका है। इसके अलावा मैदानों में 13 व 14 जून को मौसम साफ हो जाएगा, जबकि शेष ऊपरी क्षेत्रों में बारिश का अनुमान है। कुल मिलाकर यह पूरा सप्ताह मौसम के हिसाब से परिवर्तनशील रहेगा और अधिकतम तापमान में कमी आ सकती है।

ऊना में टूटा 14 साल का रिकॉर्ड

चंद्रमोहन चौहान। ऊना : सूर्य के कड़े तेवरों ने ऊना में पिछले 14 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। इस दौरान अधिकतम तापमान 45.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया, जो पिछले दिन के मुकाबले 2 डिग्री सेल्सियस अधिक था। साल 2005 में अधिकतम तापमान 45.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। जिले में अगले एक सप्ताह तक तापमान 44 डिग्री सेल्सियस के करीब बने रहने की संभावना है। भीषण गर्मी में पंखे तथा कूलर भी राहत नहीं दे पा रहे हैं। सुबह से लेकर शाम तक लोग लू के थपेड़ों से परेशान हो रहे हैं

। चिलचिलाती धूप और लू की वजह से सुबह से सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा। इस गर्मी से सबसे ज्यादा परेशानी स्कूली बच्चों व नौनिहालों को पेश आ रही है। सुबह तो जैसे-तैसे बच्चें स्कूल पहुंच जाते है, लेकिन दोपहर को छुट्टी के बाद घर पहुंचना किसी आफत से कम नहीं है। पिछले कुछ दिन पहले बेशक प्रशासन ने स्कूलों की समय सारिणी में बदलाव किया था, लेकिन अभिभावकों ने मांग की है कि पंजाब की तर्ज पर जिला ऊना में भी गर्मियों की छुट्यिां की जाए। मौसम विभाग के प्रवक्ता विनोद कुमार ने बताया कि सोमवार को सीजन का सबसे गर्म दिन रहा।

This is Rising!

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams


[recaptcha]