The enthusiasm shown by schoolchildren

मेधावी छात्र सम्मान समारोह में भाग लेने के लिए छात्र- छात्राएं दिखे उत्सुक , छात्रों ने ‘हिमाचल दस्तक’ का जताया आभार

तोमर ठाकुर। सोलन : मंगलवार को ‘हिमाचल दस्तक’ समाचार पत्र द्वारा आयोजित मेधावी छात्र सम्मान समारोह में भाग लेने के लिए स्कूली बच्चे काफी उत्सुक दिखाई दिए। सुबह करीब 9 बजे बच्चे सोलन शहर में स्थित संस्कृत कॉलेज में पहुंचने शुरू हो गए। बच्चे सम्मान लेने के साथ-साथ मंत्री सुरेश भारद्वाज से मिलने के लिए भी काफी उत्सहित दिखे।

सोलन शहर का में लगातार पड़ रही गर्मी भी स्कूली बच्चों के उत्साह को कम नहीं कर सकी। शहर के साथ- साथ दूर-दराज के बच्चे भी आयोजन में भाग लेने के लिए पहुंचे। अधिकतर बच्चे ऐसे थे, जिनको पहली बार इस प्रकार का सम्मान मिल रहा था।  ऐसे में बच्चों ने ‘हिमाचल दस्तक’ समाचार पत्र का आभार भी व्यक्त किया और इसी उम्मीद के साथ कार्यक्रम को अलविदा कहा कि अगले वर्ष भी इस प्रकार का आयोजन हो। इसमें एक बार फिर से ऐसे बच्चों को सम्मानित किया जाए जिन्होंने अपने साथ-साथ प्रदेश का नाम का नाम भी चमकाया है।

गौर रहे कि मंगलवार को संस्कृत कॉलेज सोलन के हॉल में मेधावी छात्र सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। इसमें टॉपर बच्चों को सम्मानित किया गया। जैसे ही इस बात का पता मेधावी छात्र- छात्राओं को चला, तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। मंगलवार को सुबह ही सोलन संस्कृत कॉलेज मेें जिला भर के टॉपर पहुंचने शुरू हो गए।

बता दें कि 12वीं कक्षा के बच्चे अब कॉलेज में दाखिला लेने के कार्य में जुटे हुए हैं। इसके बावजूद भी भारी संख्या में बच्चे कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे। कई बच्चे अपने माता-पिता के साथ पहुंचे तो कई अध्यापकों के साथ। इतना ही नहीं कई बच्चे कार्यक्रम में भाग लेने के लिए इतने उत्सुक थे कि वे अकेले ही कार्यक्रम में पहुंच गए।

एक-दूसरे का बढ़ाया मनोबल

जब मंत्री सुरेश भारद्वाज द्वारा मेधावी छात्रों को सम्मान दिया जा रहा था, उस समय दूसरे मेधावी छात्र-छात्राओं ने ताली बजाकर प्रतिभागियों का मनोबल बढ़ाया। इसी दौरान सोलन के पार्थ सैनी को सम्मानित करते समय तो पूरे हॉल में पार्थ का नाम गूंजने लगा। गौर रहे पार्थ सैनी सीबीएससी 12 क क्षां में देश में तीसरे स्थान पर रहे हैं।

सम्मान लेने में छात्राओं ने पछाड़ा छात्रों को

मेधावी छात्र सम्मान सामरोह में छात्र के मुकाबले छात्राओं का अधिक दबदबा रहा है। कार्यक्रम में करीब 70 प्रतिशत छात्राओं को सम्मानित किया गया है। छात्राओं को मिले इस सम्मान से एक बार फिर से यह साबित हुआ है कि किसी भी क्षेत्र में छात्राएं, छात्रों से पीछे नहीं हैं। वहीं, अधिक छात्राओं को मिले इस सम्मान से साफ पता चल रहा है कि जिला में इस बार भी लड़कों के मुकाबले लड़कियों ने बाजी मार ली है।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams