News Flash
rohtang

कुल्लू की चोटियां सफेद, बारिश से किसान खुश

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। कुल्लू
घाटी की ऊंची चोटियों पर बर्फबारी हुई है। रोहतांग दर्रे पर तीन, मढ़ी में एक फीट, कोठी में 6 इंच व सोलांंग नाला में 4 इंच ताजा बर्फबारी हुई है। मनाली में भी बर्फ के फाहे गिरे। पर्यटकों ने बर्फबारी का जमकर आंनद उठाया। कुल्लू में लगघाटी, मणिकर्ण घाटी के हनुमान टिब्बा, देऊटिब्बा, मांहुटी नाग की पहाडिय़ों में ताजा बर्फबारी हुई। इससे किसानों-बागवानों के चेहरे खिल गए हैं। वहीं, बर्फबारी चिलिंग आवर्स पूरे होने से ऊंचाई वाले क्षेत्रों में सेब की अच्छी फसल होती है।

लाहौल-स्पीति की संपूर्ण घाटी में बिछी सफेद चादर

खराब मौसम के कारण नहीं हुई किलाड़ को उड़ान

हिमाचल दस्तक। केलांग
जनजातीय जिला लाहौल-स्पीति में शनिवार रात से ही हल्की बर्फबारी का दौर जारी है। संपूर्ण घाटी सहित लाहौल की ऊंची चोटियों व पहाडिय़ों लेडी ऑफ केलांग, मेनथोसा, घेपन पीक, नीलकंठ पीक, गौशाल तथा सरो गौ की चोटियों ने बर्फ की सफेद चादर ओढ ली है। जबकि रविवार शाम तक केलांग, उदयपुर, जाहलमा, दारचा में चार-चार इंच तथा गोंधला सिस्सू, कोकसर में 6 इंच तक ताजा हिमपात रिकॉर्ड किया गया। वहीं, दूसरी ओर संपूर्ण घाटी में वाहनों की आवाजाही भी ठप्प हो गई है और यातायात पूर्णयत: अवरुद्ध हो गया है।

भारी बर्फबारी की संभावना को देखते हुए घाटी के किसानों एवं बागबानों के चेहरे भी खिल गए हैं। अब तक औसत से कम बर्फबारी को देखते हुए हिमालय क्षेत्र में गलेशियरों के घटे आकार ने पर्यावरणविद्धों की चिंता बढ़ा दी थी। क्योंकि गलेशियर से ही हिमालय क्षेत्र में प्राकृतिक जल स्त्रोत आबाद होते हैं। बर्फबारी जहां घाटी के किसानों के लिए संजीवनी साबित हो रही है। खराब मौसम के चलते घाटी के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती मरीजों को कुल्लू व शिमला जाने के लिए कई दिनों तक उडऩखटोलों का इंतजार करना पड़ सकता है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams