News Flash
Three ministers were made half-minister

सुखराम बोले हमारे भाजपा में आने से मिली थीं 44 सीटें, भाजपा ने उनके साथ किया धोखा

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। मंडी : ऊर्जा मंत्री अनिल शर्मा के इस्तीफे के बाद पंडित सुखराम ने जयराम सरकार के खिलाफ आक्रामक रूख दिखाना शुरू कर दिया है। शनिवार को द्रंग कांग्रेस के सम्मेलन में सुखराम ने कहा कि उन्होंने भाजपा से तीन मंत्रालय अनिल शर्मा के लिए मांगे थे, लेकिन भाजपा ने उन्हें पावर मंत्री तो बनाया मगर उसका भी आधा मंत्रालय ही दिया।

बिना पावर के उसे मंत्री बनाए रखा गया। जबकि भाजपा ने उनसे वादा किया था कि अनिल शर्मा को पावरफुल मंत्री बनाया जाएगा, लेकिन भाजपा ने वादाखिलाफी की है।अनिल शर्मा ने बतौर पावर मंत्री महकमे में बेहतरीन कार्य किया और कई पावर प्रोजेक्ट लाने में कामयाब रहे। इसके अलावा उन्होंने सदर में स्कूल, पानी और अस्पताल खोलने में कोई कमी नहीं छोड़ी। अब उन्होंने भाजपा सरकार के मंत्रीपद से इस्तीफा दे दिया है।

वह अंतिम पड़ाव पर हैं उनका एक ही लक्ष्य है आश्रय शर्मा को लोकसभा का सदस्य बनाना। इसके लिए लोग आश्रय शर्मा को वोट देंगे तो वह अवश्य ही लोगों की आवाज को संसद में उठाएंगे। सुखराम ने दावा किया कि अनिल शर्मा और उनके भाजपा में शामिल होने के कारण ही 2017 के चुनाव में प्रदेश में भाजपा 44 सीट जीतने में कामयाब हुई थी।

सीएम पद के हकदार थे अनिल

पंडित सुखराम ने कहा कि जब भाजपा की सरकार बनी थी तब अनिल शर्मा जयराम ठाकुर से भी वरिष्ठ थे। अनिल शर्मा ही सीएम पद के हकदार थे लेकिन भाजपा ने उन्हें केवल आधा मंत्रालय ही दिया।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams