News Flash
tibetan prime minister

धर्मशाला में आयोजित प्रेसवार्ता में बोले तिब्बती प्रधानमंत्री

कहा, मोदी सरकार भारत को नंबर वन बनाने का कर रही प्रयास

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। धर्मशाला
प्रदेश के धर्मशाला में तिब्बत की निर्वासित सरकार चलती है। वीरवार को तिब्बती प्रधानमंत्री लोबसांग सांग्ये ने कई अहम बयान दिए। उन्होंने कहा कि मार्च निर्वासित तिब्बत सरकार का बजट सेशन होगा। इसके लिए प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। 7 दिन में यह पूरी होगी, इसके अलावा पीएम ने कहा कि 2010 के बाद से चीन के साथ औपचारिक बातचीत बंद हो गई है। 2002 से 2010 तक तिब्बत की आजादी के लिए चीन से बातचीत होती रही।

तिब्बत के लोगों को तिब्बत की आजादी के लिए लड़ते हुए 60 साल हो गए हैं। प्रधानमंत्री लोबसांग सांग्ये ने कहा कि मोदी सरकार भारत को नंबर-1 बनाने का प्रयास कर रही है, लेकिन तिब्बत के लोगों के लिए इंडिया पहले से ही नंबर-1 है। निर्वासित तिब्बत के लोग हमेशा भारत देश के आभारी रहेंगे। तिब्बत की आजादी की लड़ाई में भारत देश की भी महत्वपूर्ण भूमिका रही है। सांग्ये ने कहा कि जो तिब्बत के साथ हुआ, अब वे सबके साथ होने लगा है।

कहा कि अब दुनिया को चीन की असलियत पता चल गई है

चीन अपने आस पास के सभी देशों की सीमाओं पर धीरे-धीरे कब्जा करने लगा है। अब दुनिया को चीन की असलियत पता चल गई है। 60 लाख निर्वासित तिब्बती आजादी की लड़ाई लड़ रहे हैं। गांधी के अहिंसा के मार्ग पर चलकर लड़ाई लड़ी जा रही है। आपने माता-पिता के सपने को तिब्बती पूरा करना चाहते हैं। सांग्ये ने कहा कि आज भारत के स्कूलों में अंग्रेजों ने कब्जा किया है, जबकि भारत का 1000 पहले का इतिहास स्कूलों में पढ़ाया जाना चाहिए।

भारत के स्कूलों में जब सुबह प्रार्थना की जाती है, तो उससे ऊर्जा मिलती है। भारत को अपने 1000 साल पहले के इतिहास के बारे में बात करनी चाहिए। साथ ही वह बोले कि चीन से भारत को सतर्क रहना चाहिए। चीन के साथ लगती सीमाओं पर रोड कनेक्टिविटी बनाई जानी चाहिए। चीन आज नेपाल तक रेल पहुंचाने जा रहा है। भारत को भी सीमाओं की सुरक्षा को मजबूत करने के लिए प्रयास करना चाहिए।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams