Toilet situation

शौचालय की स्थिति से महिलाओं को हो रही परेशानी

हिमाचल दस्तक,शिमला।। जुब्बल-कोटखाई के गुम्मा बाजार में सार्वजनिक शौचालय की दयनीय स्थिति के बारे में मदद सेवा ट्रस्ट ने कड़ा संज्ञान लिया है और कहा कि गुम्मा बाजार में जो सार्वजनिक शौचालय ग्राम पंचायत और व्यापार मंडल के माध्यम से पिछले 1 वर्षों से चलाया जा रहा था इतने कम अंतराल में ही शौचालय की दयनीय स्थिति हो गई है।

  • गुम्मा बाजार में महिलाओं के नहीं कोई स्थान 
  • बीमारी होने की संभावना

गौरतलब है कि यह बाजार तहसील कोटखाई की 12 पंचायतों की खरीद का मुख्य केंद्र है यहां आए दिन हजारों गांव वासी अपने विभिन्न कामकाज से यहां आते रहते हैं। जहां उन्हें पहले शौचालय की उचित व्यवस्था थी वहीं आज अब खुले में ही शौच करने का मजबूर होना पड़ रहा है। महिलाओं को इस व्यवस्थित बाजार के नजदीक कोई खुली जगह शौच के लिए नहीं मिल पाती। ऐसी स्थिति में उन्हें बीमारी होने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है जबकि स्वास्थ्य सबका मौलिक अधिकार होता है।

स्वच्छ भारत अभियान के दावे झूठे साबित

जुब्बल कोटखाई में स्वच्छ भारत अभियान के दावे झूठे साबित हुए हैं। कहां क्षेत्रफल के हिसाब से बाजार आए दिन बढ़ता ही जा रहा है वहीं बुनियादी सुविधाओं के नाम पर यहां पर कुछ भी नहीं दिखता। जबकि चुनावी वर्ष में राजनीतिक दल की यहां काफी चहल कदमी रहती है। लेकिन किसी भी राजनीतिक दल को बुनियादी सुविधाओं के सुधार से कुछ भी लेना देना नहीं है। मदद सेवा ट्रस्ट की अध्यक्ष तनुजा थापटा ने कहा कि अन्य बाजारों की भी यही दशा है। उन्होंने प्रदेश सरकार व स्थानीय प्रशासन से मांग की है कि जल्द से जल्द गांव वासी की सुविधा के लिए बुनियादी सुविधाओं को तुरंत दुरुस्त किया जाए ताकि स्थानीय लोगों स्वस्थ रहे सकें।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams