News Flash
Traffic Rules

जिले में मालवाहक वाहनों में सफर के विरुद्ध पुलिस का अभियान

85 से अधिक वाहनों से यात्री उतार, चालान काट बैरंग लौटाया 

राजीव भनोट। ऊना

मालवाहक ट्रक के दुर्घटनाग्रस्त होने पर 5 श्रद्धालुओं के मरने व 61 के घायल होने की दर्दनाक घटना के बाद बुधवार को जिला ऊना पुलिस कप्तान संजीव गांधी पूरी तरह एक्शन में दिखे। दुर्घटना से सबक लेते हुए पुलिस ने पहली बार जिला ऊना में धार्मिक आस्था के नाम से मालवाहक वाहनों में आ रहे श्रद्धालुओं के ऊपर सख्ती दिखाई। जिला भर में पुलिस की टीमों ने छोटे व बड़े मालवाहक वाहनों में धार्मिक स्थलों की ओर जा रहे नियमों की अवहेलना करने वाले वाहनों के चालान काटे। वही चालकों को सख्त हिदायत भी दी कि भविष्य में इस प्रकार जोखिम भरा सफर करने प्रदेश में न आए।

खास बात यह रही कि पुलिस ने जहां भी इन वाहनों को अवैध रूप से यात्रा करते हुए पाया वही सभी श्रद्धालुओं को सड़क पर उतार दिया और चालान काटने के बाद वाहनों को वापस बैरंग लौटा दिया। किसी भी मालवाहक वाहन को आगे यात्रा नहीं करने दी गई और श्रद्धालुओं को वापस इन मालवाहक वाहनों में बैठने नहीं दिया गया। हालांकि पुलिस के इस एक्शन से श्रद्धालुओं को कुछ दिक्कत का सामना जरूर करना पड़ा। क्योंकि उन्हें बस व अन्य साधन लेने के लिए काफी पैदल चलना पड़ा।

पुलिस की इस सख्ती को देखकर हर कोई दंग था

कुछ को यात्रा बीच में छोड़कर वापस जाना पड़ा, लेकिन कहीं भी पुलिस ने नरमी नहीं बरती। सभी को समझा कर सहयोग करने के लिए कहा गया। हालांकि कुछ स्थानों पर पुलिस के साथ नोक-झोंक भी हुई, लेकिन पुलिस अपने इरादे पर डटी रही। पुलिस की इस सख्ती को देखकर हर कोई दंग था। जैसे ही पता चलता है कि आगे पुलिस मालवाहक वाहनों में यात्रा कर रहे यात्रियों को उतार रही है और चालान काट रही है, तो यात्री  वापस हो लिये। देर शाम तक पुलिस का यह अभियान चलता रहा।

करीब 85 से अधिक छोटे व बड़े मालवाहक वाहनों को जिला उना की सीमा से यात्रिओ को उतार बाहर किया गया। मालवाहक वाहनों में सफर के ट्रेंड ने गत कई वर्षों से अनेक अकाल मृत्यु का ग्रास बने है। इस मौत के सफर पर उच्च न्यायालय ने भी कड़ी टिप्पणी कर इसे रोकने के निर्देश जारी किए हैं। लेकिन आस्था के नाम पर पुलिस चालान काटकर अपना काम इतिश्री कर लेती थी। लेकिन अंब में हुए हादसे के बाद एसपी संजीव गांधी ने इस मौत के सफर पर ठोस कार्रवाई की है। जिला भर में एक ही दिन में ऐसी यात्रा करने वालों में खौफ  पैदा हो गया है।

डबल डेकर बना कर रहे यात्रा

मालवाहक वाहनों में संख्या से अधिक श्रद्धालुओं को ठूंस ठूंस कर भरा जा रहा है। मालवाहक वाहनों में छत डाल कर डबल डेकर बनाकर यात्रा की जा रही है। पहाड़ी इलाके में यही सफर तीखे मोड़ो व उतर आई पर खतरनाक साबित होता है। जो जाने-नजाने में कई जिंदगियां ली ले लेता है।

चालक का लाइसेंस करेंगे रद

मालवाहक वाहन में नियमों की धज्जियां उड़ा कर यात्रियों को लाने वाले चालकों के लाइसेंस को रद करने की प्रक्रिया शुरू करने पर विचार किया जा रहा है। वही ऐसे वाहनों के मालिकों के विरुद्ध भी कड़ी कार्रवाई करने की अनुशंसा की जाएगी। एसपी संजीव गांधी ने कहा कि ऐसे और असुरक्षित यात्रा करवाने वाले मालिकों व चालकों के साथ सख्ती से निपटा जाएगा।

पड़ोसी पुलिस से उठेगा मामला

एसपी संजीव गांधी ने कहा कि जिला ऊना व साथ लगते जिलों के धार्मिक स्थलों में मेलो व अन्य दिनों में श्रद्धालु सस्ती यात्रा के लिए असुरक्षित साधनों का प्रयोग करते हैं। मालवाहक वाहनों में आते हैं। यह यात्री पड़ोसी जिलों से आते हैं। ऐसे में पंजाब के साथ लगते इन जिलों में पुलिस अधिकारियों के समक्ष इस मामले को उठाया जाएगा, ताकि मौत के इस सफर को वही रोका जा सके। ट्रक यूनियन, टेंपो यूनियन सहित ऐसी असुरक्षित यात्रा के लिए प्रयोग आने वाले मालवाहक वाहनों के चालकों व मालिकों को भी जागरूक किया जा सके।

नहीं बरतेंगे कोई ढिलाई

एसपी संजीव गांधी ने कहा कि जिला ऊना में मालवाहक वाहनों में यात्रा करने वालों के विरुद्ध सख्ती बरती जाएगी। कोई ढिलाई नहीं होगी। उन्होंने कहा कि प्रवेश बैरियरों पर भी ऐसे सफर को रोका जाएगा। यदि कोई सीमाओं के अंदर आया तो उसी समय ऐसी यात्राओं को रोक दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा सर्वप्रथम हमारा कर्तव्य है।

डीजीपी से उठाएंगे मामला

एसपी संजीव गांधी ने कहा कि जिला में बड़ी संख्या में इस प्रकार मालवाहक वाहन मालवाहक वाहनों में यात्रा की जा रही है। पुलिस अपनी ओर से इस पर सख्ती रखेगी। लेकिन इस मामले के स्थाई हल के लिए डीजीपी हिमाचल से भी मामले को उठाया जाएगा। उनका मार्गदर्शन भी लिया जाएगा।

Comments

Coming soon

This is Rising!

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams