News Flash
Illegal liquor and assault case
  • स्पीकर बिंदल से मांगी विधायक की बर्खास्तगी

  • राम कुमार व बग्गा ने माफिया को संरक्षण देने का लगाया आरोप

  • विधायक पीएसओ से शराब की सुरक्षा करवा रहे :राम कुमार

हिमाचल दस्तक,राजीव भनोट।ऊना

पेखूवेला में अवैध शराब को लेकर कांग्रेस विधायक के पीएसओ व ड्राईवर द्वारा पुलिस कर्मियों से हुई मारपीट के बाद जिला भाजपा उग्र हो गई है। मंगलवार सुबह ही भाजपा कार्यकर्ताओं ने प्रदेश प्रवक्ता प्रो. राम कुमार व ज़िला भाजपा अध्यक्ष बलवीर बग्गा की अध्यक्षता में सड़कों पर उतरकर विधायक सतपाल रायजादा के खिलाफ रोष प्रदर्शन किया। विश्राम गृह ऊना से लेकर मिनी सचिवालय तक रोष रैली निकालते हुए भाजपा कार्यकर्ताओं ने शराब माफिया को संरक्षण देने का आरोप लगाया। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता प्रो. राम कुमार ने डीसी ऊना संदीप कुमार के माध्यम से विधानसभा अध्यक्ष राजीव बिंदल को ज्ञापन भेज ऊना सदर के विधायक सतपाल सिंह रायजादा की सदस्यता रद्द करने की मांग उठाई।

प्रो. राम कुमार ने कहा कि कांग्रेस के नेता माफिया को संरक्षण देते है, इसका सबूत देर रात पेखूवेला में देखने को मिला। शराब माफिया को बचाने के लिए न केवल सदर के विधायक सतपाल रायजादा की गाड़ी मौके पर पहुंची, बल्कि पुलिस कर्मियों से भी भिड़ पड़े, जो कि बहुत ही शर्मनाक घटना है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के इतिहास में पहली बार ऐसी घटना घटी है, जो कि निंदनीय है। उन्होंने कहा कि विधायक सतपाल रायजादा पहले भी माफिया को संरक्षण देने के लिए एसपी ऊना से उलझ चुके हैं। वहीं ऊना व हरोली में आज भी कांग्रेसी माफिया को संरक्षण दे रही है ।उन्होंने कहा कि विधायक रायजादा व मुकेश अग्निहोत्री माफिया के पैरोकार बने हुए हैं।

प्रो. राम कुमार ने कहा कि सरकार विधायकों को पीएसओ सुरक्षा के लिए देती है, लेकिन ऊना सदर के विधायक सतपाल सिंह रायजादा पीएसओ से शराब की सुरक्षा करवा रहे है। उन्होंने कहा कि पीएसओ विधायक की सुरक्षा के लिए होता है, ऐसे में बिना विधायक पीएसओ पेखूवेला में क्या करने गया है ? राम कुमार ने कहा कि जयराम सरकार ने माफिया के प्रति जीरो टायरलेंस पर काम कर रही है। रात की घटना ने देवभूमि को बदनाम किया है।

उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष राजीव बिंदल से आग्रह किया है विधायक की ऐसी हरकत के चलते सदस्यता रद्द की जाए। जिला भाजपा के अध्यक्ष बलवीर बग्गा ने कहा कि अवैध शराब को संरक्षण देने पर विधायक की जितनी निंदा की जाए कम है। उन्होंने कहा कि विधायक को इस प्रकार के काम शोभा नहीं देते हैं ।उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि अपने कर्तव्य को भूल कर यदि इस प्रकार के काम करता है तो उसे जनप्रतिनिधि रहने का कोई अधिकार नहीं है ।

वहीं ऊना मंडल भाजपा के अध्यक्ष रमेश भडोलिया ने भी विधायक सतपाल रायजादा की निंदा करते हुए शराब माफिया को संरक्षण देने के आरोप लगाए।इस अवसर पर जिला उपाध्यक्ष सागर दत्त भारद्वाज ,महामंत्री तिलक राज सैनी ,देसराज राणा,लखबीर लक्खी,अशोक धीमान ,मनु मनकोटिया ,सतीश ठाकुर ,रवि जैलदार ,राजेश कौशल ,बीडीसी प्रधान अश्विनी कुमार ,मंडल युवा अध्यक्ष राहुल देव शर्मा ,जिला युवा महामंत्री अजय चौधरी ,कमल सैनी ,प्रवीण पूरी ,वरुण मेहन, खामोश मोहित बेदी ,हरविंदर लक्की,ऋषि, आईटी सेल के प्रधान बलविंदर गोल्डी प्रधान जगदेव जग्गा,खविंदर सांगरा,हरमेश प्रभाकर,शिव मेहन,पंकज कलिया सहित अन्य उपस्थित रहे।

अनिल दत्ता की हिम्मत काबिल-ए-तारीफ
प्रो. राम कुमार ने कहा कि पुलिस के एसआईयू कर्मी अनिल दत्ता के हिम्मत की भी दाद देनी चाहिए। जिन्होंने अपनी डयूटी निभाते हुए टीम संग न केवल शराब काबू की, बल्कि विधायक रायजादा के ड्राईवर व पीएसओ द्वारा मार खाने के बाद भी हिम्मत नहीं हारी। एक तरफ पुलिस कर्मी अपनी डियूटी कर रहे है ,दूसरी तरफ एक पीएसओ शराब माफिया को बचा रहा हैं।

This is Rising!

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams


[recaptcha]