News Flash
girl wrote letter dc

परिजन जबरदस्ती बना रहे थे शादी का दबाव

नाबालिग लड़की ने लिखा डीसी को पत्र प्रशासन ने शिकायत के बाद रुकवाई शादी

ओम शर्मा। बीबीएन
सोलन के तहत रामशहर तहसील की एक जागरूक बेटी ने समाज की लड़कियों की प्रति सोच पर करार तमाचा मारा है। नाबालिगा ने जबरदस्ती शादी करने के खिलाफ अपने परिवार व ससुरालियों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। बेटी ने न प्रधान और न पुलिस से शिकायत की क्योंकि सभी मिल जाते हैं इसलिए सीधा डीसी सोलन को पत्र लिखकर गुहार लगाई। रामशहर के गांव भियूंखरी की बेटी ने डीसी को भावनात्मक पत्र लिखकर इंसाफ की गुहार लगाई और प्रशासन तथा सरकार से पढऩे का हक मांगा।

डीसी को लिखे पत्र में नाबालिग ने लिखा कि उसके परिवार ने नालागढ़ के एक युवक के साथ जबरदस्ती उसकी शादी पक्की कर दी। इसके बाद उसका परिवार और ससुराली उस पर शादी का दबाव बनाने लगे और उसे प्रताडि़त करने लगे। लड़की ने लिखा की हम चार बहने हैं और वह पढ़ी लिखी हैं। जिलाधीश सोलन ने शिकायत के बाद तुरंत एक्शन लिया और मामला एसपी बद्दी को प्रेषित किया।

इसके बाद वूमन सैल और महिला पुलिस थाना बद्दी की एसएचओ ने लड़की के घर जाकर शादी रुकवा दी। पुलिस को मौके पर पता चला कि लड़की नाबालिग है और शादी से एक दिन पहले पुलिस ने शादी रुकवा दी। वहीं बेटी के इस साहसपूर्ण काम की पूरे इलाके में चर्चा हो रही है और बेटी ने महिला शक्ति की ताकत का संदेश दिया है।

हम चार बहने हैं, हमें नर्क से बचा लो

नाबालिग ने डीसी को लिखे पत्र में साफ लिखा है कि वह चार बहनें हैं और हम चारों को इस नर्क से बचा लो। उसके माता पिता शादी न करने की स्थिति में जहर खाने की धमकियां दे रहे हैं। लड़की ने लिखा कि अगर सरकार का नारा है कि बेटी अनमोल है तो क्या बेटी को शिक्षा का अधिकार नहीं। शादी के इस नर्क के चलते वह बुरी तरह से प्रताडि़त है और रोज हो रहे जुल्मों को सहने की शक्ति अब उसमें नहीं बची है। हर मेरी शादी जबरदस्ती कर दी गई तो वह जहर खाकर अपनी जिंदगी खत्म कर लेगी।

रामशहर की बेटी ने साफ लिखा कि उसे पंचायत और पुलिस पर यकीन नहीं इसलिए आपको पत्र लिख रही है। उसे उम्मीद है कि आप मेरी गुहार को सुनेंगे और मुझे इस शादी के नर्क से छुड़ाकर आगे पढऩे का मौका दिलाएंगे। अगर समय रहते कुछ नहीं किया गया तो मेरे पास मौत को गले लगाने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचेगा।

जिला प्रशासन के पास जैसे ही पत्र पहुंचा मामला एसपी बद्दी गौरव सिंह को प्रेषित कर तुरंत एक्शन लेने की निर्देश दिए गए और शादी रूकवाई गई। परिजनों को भी किसी भी तरह से बेटी को तंग न करने की हिदायत दी गई है। उसे आगे पढऩे में प्रशासन भी पूरी मदद करेगा।
-हंसराज शर्मा, जिलाधीश सोलन

डीसी सोलन की तरफ से मामला आने के बाद वूमन सैल और महिला पुलिस थाना प्रभारी रामशहर बेटी के घर पहुंची और पुलिस द्वारा शादी रूकवाई गई। परिजनों और ससुरालियों को किसी भी प्रकार से तंग न करने की सख्त हिदायत दी गई है। अगर बेटी को पढ़ाई में कोई भी समस्या आती है तो पुलिस सदैव उसके साथ खड़ी है। -गौरव सिंह, एसपी, बद्दी

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams