News Flash
weather moods

आज फिर तूफान और ओलावृष्टि की चेतावनी

22 मई तक खराब रहेगा मौसम

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
हिमाचल प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव समाप्त होने का नाम ही नहीं ले रहा है। इसके चलते बुधवार रात से लेकर वीरवार को भी राज्य के कई स्थानों पर गरज के साथ बारिश हुई और कुछ जगह ओलावृष्टि भी हुई है। उधर, मौसम विज्ञान विभाग ने शुक्रवार को भी राज्य के निचले और मध्यम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में आंधी-तूफान व ओलावृष्टि की यलो वार्निंग जारी की है।

मौसम के इन बदले तेवरों से प्रदेश का तापमान सामान्य तौर पर ठंडा हो गया है, जबकि ऊंचाई वाले इलाकों में तो पूरी तरह से सर्दी लौट आई है। इसके चलते लोगों को दोबारा से गर्म वस्त्र बाहर निकालने पड़े हैं। मौसम विभाग की मानें तो यह मिजाज 22 मई तक चलेगा, जिस दौरान अधिकांश क्षेत्रों में बारिश होगी और अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फ भी गिर सकती है।

जानकारी के मुताबिक बीते 24 घंटों के दौरान ऊना के अंब में सर्वाधिक 42 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। इसके अलावा सुजानपुर टीहरा में 39, धर्मशाला में 38, कांगड़ा में 37, डलहौजी में 33, बंगाणा में 27, नगरोटा सूरियां और नादौन में 24, घमरूर में 22, चंबा में 18, सलूणी में 17, तीसा और गुलेर में 15, छतराड़ी और बैजनाथ में 13, पालमपुर में 12, सेऊबाग में 11, उना में 10, कुमारसैन में 7, अघ्घर व ठियोग में 6 मिमी बारिश हुई।

इस बीच प्रदेश के लाहौल-स्पीति का मुख्यालय केलंग राज्य में सबसे ठंडा रहा, जहां वीरवार सुबह न्यूनतम तापमान 4.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। इसके अलावा किन्नौर के कल्पा में 6.2, कुफरी में 8.1, डलहौजी में 8.9, मनाली में 9, शिमला में 10.7, धर्मशाला में 12.6, सियोबाग में 13 पालमपुर में 13.5, भुंतर में 14.4, चंबा में 16, ऊना में 17.7, हमीपुर में 18.2 और बिलासपुर में 18.4 डिग्री रिकॉर्ड किया गया।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams