News Flash
weather

बंगाणा के आम बागवानों को बंपर पैदावार की उम्मीद

हिमाचल दस्तक। बंगाणा
उपमंडल बंगाणा में आम के बागवानों को इस बार बंपर पैदावार की उम्मीद है। गर्मियों की दस्तक के साथ ही क्षेत्र के आम के बगीचे बौर की खुशबू से महकने लगे हैं। क्षेत्र के आम बागवानों ने बताया कि आने वाले दिनों में मौसम ने साथ दिया, तो इस बार आम की बंपर फसल से काफी फायदा होगा।

बागवानों ने बताया कि पिछले साल आम की फसल का ऑफ ईयर होने के कारण क्षेत्र में आम की फसल की पैदावार न के बराबर थी। इस कारण क्षेत्र के बागवानों को खासा नुकसान उठाना पड़ा था। क्योंकि ऑफ ईयर होने के कारण अधिकतर पेड़ों पर बौर ही नहीं पड़ा था। कहीं किसी पेड़ पर बौर था भी तो वहां मौसम की बेरूखी मार गई। लेकिन इस वार ऑन ईयर होने के चलते 15 से 20 दिन पहले ही आम के बगीचे बौर से लबालब दिखने शुरू हो गए है। ऐसे में उपमंडल में आम की बंपर फसल होने का अनुमान लग रह है।

क्या है ऑफ और ऑन ईयर

विशेषज्ञों के मुताबिक एक वर्ष आम की भारी पैदावार होती है। उस वर्ष को ऑन ईयर कहा जाता है। जबकि एक वर्ष आम की कम पैदावार होती है उसे ऑफ ईयर कहा जाता है। इस वर्ष आम की फसल का ऑन ईयर है। जिससे आम कि भारी पैदावार होने की उम्मीद है।

बगीचों में छिड़काव की सलाह दी

विशेषज्ञों के मुताबिक बागवान आम के फलों को बीमारियों से बचाने के लिए आम की सेटिंग के समय आम के सफेद चूर्ण रोग, मिली बग तथा मैंगो हॉपर कीट के नियंत्रण के लिए आजकल मोनोक्रोटोफास 100 एमएल प्रति 100 लीटर और हेक्साकोनाजोल 50 एमएल प्रति 100 लीटर पानी में मिलाकर आम के पेड़ो पर छिड़काव करें, ताकि फसल खराब न हो।

उद्यान विभाग के उपनिदेशक डॉ. सुधीर कुमार ने कहा कि इस बार आम की फसल का ऑन ईयर के चलते आम की अच्छी फसल होने की उम्मीद है। ऐसे में बागवान आम कि फसल को बीमारियों से बचाने के लिए बौर पूरा खिलने के बाद अपनी आम कि फसल पर उचित समय पर उचित दवाईयों का उचित मात्रा में छिड़काव करें, ताकि फसल को कोई नुकसान न हो।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams