News Flash
congress rajni patil

प्रदेश प्रभारी ने मानीं वरिष्ठ नेताओं में मतभेद होने की बात

वीरभद्र की आपत्तियों को हाईकमान के समक्ष रखेंगी

शिमला। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटिल ने माना कि पार्टी में गुटबाजी है, लेकिन उन्होंने इसे दूर करने की बात कही है। शिमला में पत्रकार वार्ता में रजनी पाटिल ने कहा कि गुटबाजी हर राजनीतिक दलों में होती है। यहां भी कुछ ऐसा ही है, लेकिन प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को एक मंच पर लाने के लिए वे हर संभव प्रयास करेंगी। रजनी पाटिल ने कहा कि वीरभद्र सिंह को पार्टी मुख्यालय आने के लिए उन्होंने ही इनकार किया था। वे उनके घर जाकर उनसे मिली हैं।

इसके अलावा उन्होंने विद्या स्टोक्स से भी मुलाकात की। पाटिल ने कहा कि कांग्रेस का मुख्य लक्ष्य अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव है। इसके लिए संगठन को एकजुट होना बहुत जरूरी है। वीरभद्र सिंह के पार्टी के सबसे वरिष्ठ नेता होने के नाते उनकी भूमिका भी काफी महत्वपूर्ण रहेगी। रजनी पाटिल ने कहा कि पिछले लोकसभा चुनावों में हम चारों सीटें हारे, यह सबसे बड़ी चुनौती है। इसके साथ-साथ 2017 के विधानसभा चुनावों में भी पार्टी सत्ता में होने के बावजूद चुनाव हारी, जिसका दर्द है।

पाटिल ने कहा कि पूर्व में हारे चुनावों को ध्यान में रखते हुए अब 2019 के लोकसभा चुनाव पर फोकस करना है और सभी एकजुट होकर प्रदेश की चारों सीटों पर जीर्त दर्ज करेंगे। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की आपत्तियों को वे पार्टी हाईकमान के समक्ष रखेंगी। वीरभद्र सिंह बार-बार कहते आ रहे हैं कि लोकसभा चुनावों से पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुक्खू को बदलो। रजनी पाटिल ने कहा कि संगठन में बदलाव और प्रदेश अध्यक्ष को बदलने का फैसला पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी लेंगे।

यह भी पढ़ें – चुनाव हारने वाले कांग्रेसियों ने गुटबाजी को बताया जिम्मेदार

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams