News Flash
Your vote will decide your future

स्थानीय संपादक

आज देश के सबसे बड़े महायज्ञ में आहुति डालने का पर्व है जिसमें हम अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर लोकतंत्र का अभिषेक करने जा रहे हैं। आज हम सिर्फ एक वोट नहीं डालेंगे, बल्कि आने वाले पांच सालों के लिए अपना मुस्तकबिल यानि भविष्य तय करेंगे। अपने एक वोट के जरिये हम आने वाले पांच सालों के लिए देश की बागडोर उन्हें सौंपने जा रहे हैं जिन्हें हम इस देश की, देशवासियों की और अपनी अपेक्षाओं को पूरा करने में सबसे ज्यादा सक्षम मानते हैं।

इसके लिए हम सभी का फर्ज है घर से निकलें और देश की बेहतरी के लिए वोट जरूर करें, सही को चुनें। आपके एक वोट से एक अच्छा नेता देश की व्यवस्था के चलाने वाली सरकार का हिस्सा बनता है। ऐसे में अनुमान लगा सकते हैं कि संसद में लिए गए किसी भी फैसले में आपका योगदान कितना बड़ा होगा।

इसलिए लोकतंत्र को मजबूत बनाने के लिए अपने मताधिकार का इस्तेमाल करना हम सभी का कर्तव्य है। यदि आज वोट देने नहीं निकले तो हमारा लोकतंत्र ही कमजोर होगा। अकसर कई लोग ये सोचकर वोट देने नहीं जाते कि उनके एक वोट से क्या फर्क पड़ जाएगा या कौन वोट देने के लिए कतार में खड़ा हो। लेकिन एक जिम्मेदार नागरिक को यह अहसास होना जरूरी है कि ये छुट्टी का दिन नहीं है बल्कि आपको देश के लिए सबसे बड़ी ड्यूटी निभाने का मौका मिला है। व्यापारी, नौकरीपेशा, किसान-मजदूर या फिर कोई विद्यार्थी, हम में से हर कोई हर रोज जीवन के लिए आवश्यक सुविधाएं जुटाने के कारोबार में अपने लिए ही जीते हैं।

महंगाई, लचर कानून व्यवस्था, मूलभूत सुविधाओं की कमी, शिक्षा-स्वास्थ्य या किसी भी अन्य क्षेत्र से संबंधित कोई समस्या, शायद ही कोई दिन जाता हो जब अपनी हर चिंता की ठीकरा सरकार के सिर न फोड़ते हों। चाहे दोस्तों-रिश्तेदारों के साथ बहस-मुबाहिसों या चाय के ढाबों में रोजाना जमने वाली बैठकों में आए दिन सरकार को कोसने से ज्यादा आसान शायद ही कुछ हो। लेकिन ये याद नहीं रहता कि सरकार चुनते समय क्या हमने अपनी जिम्मेदारी निभाई थी।

आज याद रखना जरूरी है कि संविधान में लोकतांत्रिक प्रक्रिया के तहत दिया गया अपना नुमाइंदा चुनने के अधिकार का इस्तेमाल कर सही चुनाव के लिए वोट करना भी सच्चे देशभक्त का कर्तव्य है। साथ ही देश का अच्छा नागरिक होने के नाते हमारा यह भी फर्ज है कि अपने आसपास के लोगों को भी वोट देने के लिए प्रेरित करें। उम्मीदवार से जो शिकायतें होती है, उसका इजहार भी हम अपने मताधिकार का सही इस्तेमाल करके कर सकते हैं।

ऐसा इसलिए भी कि यह अवसर हमें दोबारा पांच साल बाद ही मिलेगा। इस बार वोट देकर जिसकी सरकार चुनेंगे वही देश को चलाएगा, इसलिए वोटिंग के प्रति उदासीनता ठीक नहीं है। एक अच्छी पारदर्शी सरकार के गठन में अपना योगदान देने के लिए वोट करने बूथ तक जरूर जाएं। वोट डालें। यही लोकतंत्र की खूबसूरती है।

 

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams