acharya

कहा, राज्य स्तर पर किया जाएगा समिति का गठन

पालमपुर कृषि विवि में वरिष्ठ वैज्ञानिकों के साथ की बैठक

हिमाचल दस्तक। पालमपुर
राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने पालमपुर में चौधरी श्रवण कुमार कृषि विश्वविद्यालय के वरिष्ठ वैज्ञानिकों के साथ बैठक की। राज्यपाल ने कहा कि राज्य स्तर पर एक समिति का गठन किया जाएगा, जो शून्य लागत प्राकृतिक कृषि पर अध्ययन कर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। उन्होंने कहा कि समिति की सिफारिशों का पालन किया जाएगा, ताकि अगले चार साल के भीतर हिमाचल देश में प्राकृतिक खेती राज्य बन सके।

उन्होंने प्राकृतिक खेती के क्षेत्र में कृषि विवि पालमपुर के वैज्ञानिकों के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने आग्रह किया कि सिक्किम के बाद हिमाचल को प्राकृतिक कृषि में अग्रणी राज्य बनाने में अपनी भूमिका निभानी चाहिए। उन्होंने वैज्ञानिकों को इस परियोजना को मिशन के रूप अपनाकर इसमें समर्थन करने का कहा।

देवव्रत ने कहा कि वर्तमान में रासायनिक व जैविक खेती की पिछली प्रथा अपिरहार्य व फिट नहीं है। उन्होंने कहा कि जहां रासायनिक खेती का संबंध है, इसके उत्पाद जहरीले और नुकसानप्रद होने के साथ महंगे हैं और मिट्टी से अधिक आवश्यक पोषक तत्व को अवशोषित करती है, इसलिए शून्य लागत प्राकृतिक खेती, कृषि के लिए एक बेहतर विकल्प है। प्राकृतिक कृषि से रासायनिक खेती से होने वाले नुकसान की समस्या को दूर किया जा सकता है।

उन्होंने भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद की अनुसंशा व अध्ययन रिपोर्ट की जानकारी दी। पालमपुर कृषि विवि के कुलपति प्रो. अशोक सरियाल ने कहा कि उनके दिशा-निर्देशानुसार विश्वविद्यालय में प्राकृतिक खेती के लिए 25 एकड़ भूमि चिन्हित की है। कुलपति के ओएसडी अशोक कुमार शर्मा, कुल सचिव सतीश कुमार, निदेशक प्रसार डॉ. अतुल, निदेशक अनुसंधान डॉ. आरएस जम्वाल, अधिष्ठाता, विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागाध्यक्ष व वरिष्ठ वैज्ञानिक भी उपस्थित थे।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams