News Flash
asian hospital

इलाज के दौरान गर्भवती की हुई मौत

फरीदाबाद
गुडग़ांव के फोर्टिस के बाद अब फरीदाबाद के एशियन अस्पताल में ऐसा ही मामला सामने आया है। एक गर्भवती महिला को बुखार होने पर अस्पताल में एडमिट करवाया गया था। 22 दिनों तक चले इलाज के बाद भी महिला की मौत हो गई और मौत के बाद अस्पताल ने परिजनों को 18 लाख का बिल थमा दिया। इतने दिनों तक चले इलाज के बाद न महिला बच सकी और ही गर्भस्थ शिशु को बचाया जा सका, उस पर इतना बिल। परेशान व दुखी परिजन अस्पताल के खिलाफ एक्शन की मांग कर रहे हैं।

फरीदाबाद के एक गांव के निवासी सीताराम अपनी 20 साल की गर्भवती बेटी को बुखार के इलाज के लिए इस अस्पताल में ले गए थे, उसे 7 महीने का गर्भ था। गर्भवती को 13 दिसंबर को एडमिट करवाया गया था और इलाज के 3-4 दिन बाद बताया गया कि गर्भस्थ शिशु मर चुका है और ऑपरेशन करने से पहले साढ़े तीन लाख रुपये जमा करवाने होंगे।

परिजनों ने पैसों का इंतजाम किया और जब तक पैसे जमा नहीं किए गए, ऑपरेशन शुरू नहीं किया गया। ऑपरेशन में देरी के चलते श्वेता के पेट में इन्फेक्शन फैल गया और उसे ICU में भर्ती कराया गया। इलाज के लिए लगातार पैसे जमा करवाए जाते रहे लेकिन वह नहीं बची और मौत के बाद अस्पताल ने 18 लाख का बिल थमा दिया।

पीडि़त पिता बोले

पीडि़त पिता का कहना है कि अस्पताल ने और पैसों की मांग की तो उन्होंने इनकार कर दिया, बेटी से उन्हें मिलने नहीं दिया गया। कुछ समय बाद बेटी को मृत घोषित कर दिया गया।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams