arjuna award

महासंघ ने कहा कि उनका नाम जरुरी नहीं था

Arjuna Award की दौड़ में एक बार फिर पिछडऩे पर नाराजगी जाहिर करते हुए भारत के स्टार टेनिस खिलाड़ी रोहन बोपन्ना ने समय सीमा के भीतर उन्हें नामित नहीं करने के लिए अखिल भारतीय टेनिस महासंघ (AITA)से नाराजगी जाहिर की है लेकिन महासंघ ने कहा कि उनका नाम जरुरी नहीं था क्यूंकि ये Arjuna Award की पात्रता को पूरा नहीं करते।आवेदन भेजने की समय सीमा 28 अप्रैल को समाप्त हो गई थी लेकिन AITA ने 14 जून को बोपन्ना का नाम भेजने का मन बनाया जब उन्होंने कनाडा की गैब्रिएला दाब्रोवस्की के साथ मिलकर फ्रेंच ओपन का मिश्रित युगल खिताब जीता।

मेरा रिकार्ड अच्छा था। ऐसे कई बहाने सुने हैं

AITA ने नामांकन के लिए साकेत माइनेनी को चुना जिन्होंने 2014 इंचियोन एशियाई खेलों में दो पदक जीते और पुरस्कार चयन समिति समय सीमा पर अडिग रही।इससे पहले भी में कई बार बोपन्ना का नाम Arjuna Award के लिए भेजा गया लेकिन हर बार उनके आवेदन को खारिज कर दिया गया।बोपन्ना ने कड़े बयान में कहा, हम पेशेवर टेनिस खिलाड़ी अपने देश को गौरवांवित करने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं। और कोई इस पर सवाल नहीं उठा सकता।

हालांकि जब प्रणाली इस मामले में (टेनिस संघ) लापरवाही से काम करती है तो यह ना सिर्फ अपमानजनक होता है बल्कि उस मान्यता की उम्मीद भी छीन लेता है जिसके आप हकदार हो।उन्होंने कहा, कि समय सीमा से पहले अर्जुन पुरस्कार के लिए मेरा नामांकन नहीं भेजने के लिए AITA में पेशेवरपन और क्षमता की कमी की बात कर रहा हूं। पिछले दशक जब मैं पात्र था और मेरा रिकार्ड अच्छा था। ऐसे कई बहाने सुने हैं।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams