News Flash
If you did not return the congratulations, it was 'the night of the murder'

प्रधानमंत्री बोले पाकिस्तान को दे दी थी चेतावनी

पाटण : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि उन्होंने पाकिस्तान को चेतावनी दी थी कि यदि उसने भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनंदन वर्धमान को नहीं लौटाया तो उसे परिणाम भुगतने होंगे।

मोदी ने कहा कि एक वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारी ने दूसरे दिन कहा था कि मोदी ने 12 मिसाइलें तैयार कर रखी हैं और हमला कर सकते हैं तथा स्थिति बिगड़ जाएगी। पाकिस्तान ने पायलट को लौटाने की घोषणा कर दी, नहीं तो वह कत्ल की रात होने जा रही थी। उन्होंने कहा कि यह अमेरिका ने कहा था, मेरे पास अभी कहने के लिए कुछ नहीं है। जब वक्त आएगा तो मैं इसके बारे में बोलूंगा। मोदी ने अपने गृह राज्य गुजरात के पाटण में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा के प्रति अपनी सरकार की प्रतिबद्धता पर जोर दिया और कहा कि प्रधानमंत्री की कुर्सी रहे या नहीं उन्होंने निर्णय किया है कि या तो वह रहेंगे या आतंकवादी।

उन्होंने राकांपा नेता शरद पवार पर निशाना साधते हुए कहा कि यदि पवार को नहीं पता कि उनका अगला कदम क्या होगा तो पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को कैसे पता होगा कि वह क्या करेंगे। मोदी ने गुजरात के लोगों से आग्रह किया कि वे उनके गृह राज्य में भाजपा को लोकसभा की सभी 26 सीटें जिताने में मदद करें जहां मतदान मंगलवार को होगा। उन्होंने कहा कि यदि ऐसा नहीं हुआ तो मतदान वाले दिन इसको लेकर टीवी पर चर्चा होगी।

पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकवादी शिविर पर हवाई हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों के बीच 27 फरवरी को हवाई संघर्ष हुआ था जिसमें भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को पड़ोसी देश में पकड़ लिया गया था। पाकिस्तान ने एक मार्च की रात को पायलट को रिहा कर दिया था। मोदी ने कहा कि पायलट को पकड़ लिए जाने के बाद विपक्ष ने इस पर उनसे जवाब मांगना शुरू कर दिया था। उन्होंने कहा कि हमने संवाददाता सम्मेलन किया और पाकिस्तान को आगाह किया कि हमारे पायलट के साथ यदि कुछ भी हुआ तो आप दुनियाभर में बताते फिरेंगे कि मोदी ने आपके साथ क्या किया।

फैसला किया है मैं रहूंगा या फिर आतंकी

विपक्ष पर साधा निशाना: पीएम ने विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि बालाकोट हमले ने उन्हें असहज बना दिया। उन्होंने कहा, पाकिस्तान लगातार कह रहा था कि भारत ने हम पर बम गिराए, लेकिन यहां लोग सवाल कर रहे थे कि क्या यह भारत का बालाकोट है। वे गलत साबित हुए। उन्होंने कांग्रेस पर भारतीय सैन्य बलों की वीरता पर सवाल उठाने का आरोप लगाते हुए सवाल किया, क्या कोई कांग्रेसी नेता हवाई हमले का सबूत मांगता है? उन्हें यह सवाल पूछना बंद करने का संदेश मिल गया क्योंकि लोग नाराज हो रहे थे। बाद वे पूछना भूल गए हैं।

 

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams