test match

Test Cricket में पदार्पण के बाद से कोई पूर्ण टेस्ट श्रृंखला नहीं जीती

भारत और श्रीलंका के बीच आखरी Test Match कल से पल्लेकेले स्टेडियम मे खेला जाना है भारत ने सीरीज मे दो मैच जीतकर बढ़त वनाई हुई है और भारतीय कप्तान विराट कोहली कल से शुरू होने वाले मैच को जीतकर श्रीलंका को Clean Sweep के इरादे से उतरेगा।

अभी तक कोहली की कप्तानी में भारत ने 28 टेस्ट खेले हैं और उन्होंने कभी समान अंतिम एकादश नहीं उतारी। यही चलन कल के मैच में भी जारी रहने की उम्मीद है।  लेकिन भारत ने 1932 में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण के बाद से 85 साल में कोई पूर्ण टेस्ट श्रृंखला नहीं जीती। यदि वे ऐसा कर पाते हैं तो यह काबिले तारीफ होगा।

भारत ने अपनी सरजमीं पर भी टेस्ट श्रृंखला में अधिक व्हाइटवाश नहीं किए हैं। भारत ने अभी तक चार ही श्रृंखलाएं ऐसी खेली है जिसमें
सारे मैच जीते हों। मोहम्मद अजहरूद्दीन की अगुवाई में 1993 में इंग्लैंड को 3-0 से हराना और श्रीलंका पर 1994 में 3-0 से मिली जीत इसमें शामिल है।
महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत ने आस्ट्रेलिया को 2013 की घरेलू श्रृंखला में 4-0 से हराया। पिछले साल कोहली की कप्तानी में न्यूजीलैंड पर 3-0 से जीत दर्ज की। विदेशी सरजमीं पर यादगार टेस्ट श्रृंखलाओं में कपिल देव की कप्तानी में इंग्लैंड में 1986 में तीन मैचों की श्रृंखला में 2-0 से मिली जीत , पाकिस्तान पर 2004 में 2-1 से जीत और श्रीलंका पर 2015 में 2-1 से जीत शामिल है।

यह टीम नए रिकार्ड बनाने का माद्दा रखती है-Ravi Shastri

भारत ने टाइगर पटौदी की कप्तानी में 1967-68 में न्यूजीलैंड में 3-1 से जीत दर्ज की थी। दो टेस्ट मैचों की श्रृंखलाओं में भारत ने बांग्लादेश ( 2004-05 ), जिम्बाब्वे ( 2005-06 ) और बांग्लादेश (2009-10 ) का सूपड़ा साफ किया। तीसरे टेस्ट में जीत से मुख्य कोच रवि शास्त्री का यह दावा भी पुख्ता होगा कि यह टीम नए रिकार्ड बनाने का माद्दा रखती है। देखना यह होगा कि टीम संयोजन में कोई बदलाव किया जाता है या नहीं।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams