News Flash
Karnataka: 2 more Congress MLAs resign

बागियों से मिलने पहुंचे डीके शिवकुमार को जबरन भेजा बेेंगलुरु

मुंबई : कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार की मुसीबतें और बढ़ गई हैं। बुधवार को कांग्रेस के दो विधायकों के सुधाकर, एमटीबी नागराज ने इस्तीफा दे दिया। यह जानकारी स्पीकर रमेश कुमार ने दी। उन्होंने कहा कि विधायकों के मामले में कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी। सभी व्यक्तियों के लिए कानून एक समान है।

उधर, पुलिस ने बुधवार को कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार और मिलिंद देवड़ा को हिरासत में ले लिया। वे मुंबई के रेनेसां होटल में ठहरे कांग्रेस-जेडीएस के 10 बागी विधायकों से मुलाकात करने पहुंचे थे। बाद में पुलिस ने शिव कुमार को जबरन बेंगलुरु भेज दिया। इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई। बेंगलुरु में राजभवन के सामने विरोध प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद और दिनेश राव गुड्डू भी हिरासत में ले लिए गए। कर्नाटक सरकार में मंत्री शिवकुमार ने कहा कि वे अपना काम कर रहे हैं।

हम अपने दोस्तों से मिलने आए हैं। हमने एक साथ राजनीति शुरू की और एक ही साथ राजनीति में मरेंगे। वे हमारी पार्टी के लोग हैं और हम उनसे मिलने आए हैं। मैं अपने दोस्तों से बिना मिले नहीं जाऊंगा। वहीं, कांग्रेस के बागी विधायक रमेश जारकिहाली ने कहा कि हम उनसे नहीं मिलना चाहते। भाजपा का कोई भी नेता हमसे मिलने यहां नहीं आया है। बी. बस्वराज ने भी कहा कि हमारा शिवकुमार का अपमान करने का कोई इरादा नहीं है। हमें उनपर भरोसा है, लेकिन ऐसा कदम उठाने का कारण है। हम उनसे आग्रह करते हैं कि वे यह समझने का प्रयास करें कि हम उनसे आज नहीं मिल सकते।

इस्तीफा स्वीकार न होने पर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे बागी विधायक

इस्तीफा स्वीकार नहीं किए जाने के बाद बुधवार को बागी विधायकों ने विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की। विधायकों ने स्पीकर पर आरोप लगाया कि रमेश कुमार अपने संवैधानिक कर्तव्यों का पालन नहीं कर रहे हैं। वह जानबूझकर इस्तीफे की स्वीकृति में देरी लगा रहे हैं। इस मामले की वीरवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हो सकती है।

कांग्रेस सदस्यों ने राज्यसभा में किया हंगामा

नई दिल्ली। कर्नाटक में चल रहे राजनीतिक घटनाक्रम को लेकर कांग्रेस सदस्यों के हंगामे के कारण राज्यसभा की बैठक बुधवार को शाम तीन बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। हंगामे की वजह से उच्च सदन में शून्यकाल पूरा नहीं हो पाया। सदन की बैठक शुरू होने पर सभापति एम वेंकैया नायडू ने आवश्यक दस्तावेज सदन के पटल पर रखवाए। इसके बाद उन्होंने सदन को सूचित किया कि कांग्रेस के राजीव गौड़ा और कपिल सिब्बल ने शून्यकाल स्थगित करने के लिए नियम 267 के तहत दो नोटिस दिए हैं जिन्हें स्वीकार नहीं किया गया है। राजीव गौड़ा तथा कांग्रेस के अन्य सदस्यों ने नोटिस के अस्वीकार किए जाने का विरोध किया।

शिवकुमार गो बैक के नारे लगाए

कांग्रेस नेता शिवकुमार को मुंबई पुलिस ने होटल में जाने से रोका था। इस पर शिवकुमार ने कहा कि उन्होंने यहां रूम बुक किया है। कुछ दोस्त यहां रुके हुए हैं। उनके बीच छोटी सी समस्या हो गई है। विधायकों से बातचीत करना चाहता हूं। यहां डराने-धमकाने की कोई बात नहीं है। विधायकों ने शिव कुमार गो बैक के नारे भी लगाए।

 

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams