News Flash
railway created history

पुल बनते ही 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ी ट्रेन

नोएडा। देश की लाइफ लाइन कही जाने वाली भारतीय रेल ने एक और उपलब्धि अपने नाम कर ली है। रेलवे ने महज 7 घंटे 20 मिनट में नया पुल बनाकर इतिहास रचा है। रेलवे ने इस नए पुल के बनते ही इस पर सफलतापूर्वक ट्रेन भी गुजारी। मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक यूपी के नजीबाबाद-मुरादाबाद के बीच बुंदकी के पास करीब 100 साल पुराना रेलवे का पुल जर्जर हो चुका था।

हालत खराब के कारण पुल से ट्रेनें बेहद धीमी गति से गुजरती थीं। इससे ट्रेनों के आने-जाने के समय पर फर्क पड़ता था। यात्रियों को देरी का सामना करना पड़ता था। लेकिन यात्रियों की समस्या और पुल की खराब हालत ने रेलवे का ध्यान खींचा और फिर जो हुआ, वह सबके सामने है। बहुत कम समय में रेलवे के बनाए इस पुल से अब 100 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से ट्रेनें गुजर सकती हैं।

फेब्रीकेटेड मैटेरियल का इस्तेमाल

नया पुल बनाने का कारनामा रेलवे के सुपरिटेंडेंट इंजीनियर पारितोष गौतम और उनकी टीम ने किया। पारितोष अपनी टीम के साथ 3 जनवरी को सुबह 9.35 बजे साइट पर पहुंचे। 1.24 बजे तक पुल को तोड़कर उसका मलबा हटा लिया गया। 3.05 बजे तक पुल का ढांचा तैयार कर दिया गया। 5.15 बजे तक नया पुल बनकर तैयार हो चुका था। पुल को बनाने में फेब्रीकेटेड मैटेरियल का इस्तेमाल किया गया। फेब्रीकेटेड मेटेरियल पहले से तैयार किए गए सामान को कहते हैं। इसके तहत पुल का ढांचा पहले से तैयार कर लिया जाता है और फिर उसे सेट कर दिया जाता है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams