army camp

एयरबेस पर आतंकी हमले की बरसी पर प्रशासन मुस्तैद

हिमाचल दस्तक। पठानकोट
पाकिस्तानी आतंकियों द्वारा पठानकोट एयरबेस पर हमले के दो वर्ष पूरे होने को हैं। इसके मद्देनजर शहर, एयरबेस और इसके आसपास सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। पठानकोट को छावनी में तब्दील कर दिया है। जिले में चप्पे-चप्पे पर निगरानी की जा रही है। 30 संवदेनशील स्थानों पर नाके लगाए गए हैं और रात के लिए विशेष सुरक्षा प्लान भी बनाया गया है।

भारत-पाकिस्तान सीमा पर भी कड़ी निगरानी रखी जा रही है। जिले के सभी पुलिसकर्मियों की छुट्टियां 7 जनवरी तक रद कर दी गई हैं। एसएसपी ने जिले के थाना प्रभारियों और चौकी प्रभारियों की बैठक बुलाकर सुरक्षा प्रबंधों को अंतिम रूप दिया गया। एयरबेस स्टेशन के आसपास सहित सीमांत क्षेत्र में पुलिस ने चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा व्यवस्था को चाक चौबंद है। इसके लिए सभी थाना प्रभारियों, स्वैट टीम व डीएसपी रैंक के अधिकारियों को लगाया गया है।

डीएसपी रैंक के अधिकारी संवेदनशील क्षेत्रों में नजर रखेंगे। कोई अप्रिय घटना न हो, इसके लिए 600 से अधिक पुलिस जवानों को सुरक्षा का जिम्मा दिया गया है। खंडहर इमारतों पर स्पेशल टीमों द्वारा सर्च अभियान चलाकर जांच जारी रहेगी। नववर्ष पर सुरक्षा को लेकर शुरू हुआ हाईअलर्ट आगामी कुछ दिनों तक जारी रहेगा। जिले को पूरी तरह से सील कर, सुरक्षा प्रबंधों पर निगाह रखी जा रही है।

पुलिस व सेना भारत-पाकिस्तान और जेएंडके की सीमा से सटे नरोट जैमल सिंह व बमियाल क्षेत्र में चौकसी तेज करते हुए सख्त नाकेबंदी कर पंजाब में प्रवेश होने वाले वाहनों की गहनता से पड़ताल की जा रही हैं। जेएंडके से नरोट-बमियाल आने वाली निजी बसों को भी गहनता से खंगाला जा रहा है। सुरक्षा के मद्देनजर पठानकोट कैंट रेलवे स्टेशन और आसपास के क्षेत्र में सर्च अभियान चलाया जा रहा है। एंटी-स्बोटेज तथा स्वैट जवानों ने पुलिस के साथ प्लेटफार्म पर सर्च की।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams