not found terrorists

पठानकोट सर्च ऑपरेशन –

  • ऑल्टो मालिक की पहचान करने का दावा कर रही पंजाब पुलिस
  • कार मालिक का नहीं है कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड

हिमाचल दस्तक। पठानकोट
पठानकोट में तीन दिन में दो कारों द्वारा नाका तोडऩे की घटना हुई है। हालांकि, कार सवारों के बारे में पुलिस को कुछ पता नहीं चला। कई इलाकों में सर्च ऑपरेशन भी चलाया जा रहा है। मंगलवार देर रात संदिग्ध स्कॉर्पियो के नाका तोड़े जाने की घटना की गुत्थी सुलझी नहीं थी कि एक दिन पहले रात को ऑल्टो कार ने मंगियाल में नाका तोड़ दिया। दोनों घटनाएं 3 दिन के अंतर में हुईं। दोनों गाडिय़ां जम्मू और कश्मीर नंबर की हैं। हालांकि अभी तक इन गाडिय़ों में कौन सवार था उनके बारे में पुलिस को कुछ नहीं पता चला।

एसएसपी ऑल्टो के मालिक की पहचान का दावा कर रहे हैं, लेकिन अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई। कार का मालिक जम्मू निवासी बताया जा रहा है। कार में 2 जोड़ी चप्पल के अलावा कुछ नहीं मिला। वहीं, मंगलवार रात रिकवर हुई स्कॉर्पियो में से एक बछड़ा मिला था। चालक का 3 दिन बाद भी अता-पता नहीं लगा। वहीं शनिवार को कार मिलने वाली जगह से 25 किमी दूर तारागढ़ के गांव शादीपुर में 3-4 संदिग्ध दिखने के बाद दूसरे दिन भी सर्च ऑपरेशन चलाया गया।

पुलिस, स्वाट और आर्मी ने आस-पास के गांवों में सर्च ऑपरेशन चलाया और लोगों से पूछताछ की।

हालांकि संदिग्धों की सूचना देने वाले दोनों किसान बलबीर सिंह और भरत सिंह अभी भी अपने बयान पर टिके हैं। किसानों ने बताया कि सभी संदिग्धों ने मुंह ढक रखा था। वे सेना की वर्दी में थे और कंधों पर हथियारों जैसा कुछ लटकाया था। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक शुक्रवार रात नाका तोडऩे वाली कार में 3-4 लोग सवार थे। कार मुट्ठी गांव में जलालिया दरिया के पास लावारिस हालत में मिली।

आशंका है कि कार सवार लोगों की योजना पैंटून पुल के रास्ते फतेहपुर होते हुए जम्मू-कश्मीर भागने की थी। इस बार बरसात से पहले उठाया पैंटून पुल दोबारा लगाया नहीं गया, जिसके चलते कार सवार भाग गए। जानकारों का कहना है कि दरिया में पानी का स्तर कम है, कोई भी व्यक्ति पैदल दरिया पार कर सकता है, पानी का स्तर घुटनों तक है। अब संभावना जताई जा रही है कि कार सवार पैदल ही दरिया पार कर गए होंगे। पिछले साल भी बमियाल के पास गांव भगवाल के खेतों में एक कार बरामद हुई थी।

कार पर गोलियों के निशान थे और गाड़ी से मिले कागजात के आधार पर कठुआ निवासी व्यक्ति पर मामला भी दर्ज किया गया था। अब लगातार 2 कारों के मिलने और सवारों के न मिलने से पुलिस उन्हें पशु तस्कर बता रही है। एसएसपी पठानकोट विवेकशील सोनी ने बताया कि कार सवार की पहचान कर ली गई है। वह जम्मू के ग्रामीण एरिया का रहने वाला हसनदीन है और जुटाई गई जानकारी के मुताबिक उसका कोई क्रिमिनल बैकग्राउंड भी नहीं है। उन्होंने कहा कि शादीपुर में सर्च के दौरान कुछ नहीं मिला। पुलिस सतर्क है। कार मालिक को बुलाया गया है।

यह भी पढ़ें – क्षय रागियों को मिलेगा सस्ता राशन

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams