News Flash
hanuman ji worship

हनुमानजी की पूजा

धन प्राप्ति व अन्य समस्याओं के लिए कई उपाय बताए जाते हैं लेकिन ज्योतिषियों के अनुसार केवल लौंग के जोड़ों के खास टोटके किए जाएं तो आपकी किस्मत के बंद दरवाजे भी खुल सकते हैं…

किसी भी जरूरी काम की शुरुआत में एक नींबू लें उसमें 4 लौंग गाड़ दें और ऊं श्री हनुमते नम: मंत्र का 21 बार जाप करके उस नींबू को घुमाकर पश्चिम दिशा की तरफ श्रीराम का नाम लेते हुए फेंक दें।

घर में अगर ज्यादा झगड़े होते हों या नकारात्मकता ज्यादा हावी रहती हो तो जातक सुबह कर्पूर के साथ एक जोड़ी लौंग नियमित जलाए तो लाभ मिलता है। किसी भी काम को सौ फीसद सफल बनाने के लिए घर में दाईं ओर मुड़ी हुई सूंड के गणेशजी का चित्र लगाएं, इसके आगे लौंग तथा सुपारी रखें और इसकी पूजा करें।

काम पर जाते समय उसमें से एक लौंग को अपने साथ ले जाएं। आपका काम कभी रुक नहीं पाएगा। आकस्मिक धन लाभ और रुका हुआ पैसा पाने के लिए कच्ची घानी के तेल में दो लौंग डालकर हनुमानजी की पूजा करें आपको न केवल जबरदस्त धनलाभ होगा बल्कि आत्मविश्वास में भी बढ़ोतरी होगी।

कुछ अन्य उपाय :

हनुमानजी के मंदिर जाकर एक सरसों के तेल का और एक शुद्ध घी का दीपक जलाएं। इसके बाद वहीं बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ करें। इसके ठीक बाद मंगलवार के दिन काले वानरों को गुड़ चना खिलाएं। सुबह स्नान के बाद पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दिया जलाएं और पूर्व दिशा की ओर मुहं करके तुलसी की माला से राम का 1008 बार जाप करें, सात सप्ताह में आपकी कमना पूरी हो जाएगी।

बृहस्पति ग्रह दोष दूर करना है तो करें ये उपाय

यदि कुंडली में गुरु ग्रह (बृहस्पति) से संबंधित कोई दोष हो तो उसकी शांति के लिए गुरुवार को विशेष पूजा की जाती है। बृहस्पति देवताओं के गुरु भी हैं। गुरु वैवाहिक जीवन व भाग्य का कारक ग्रह है। यहां जानिए बृहस्पति ग्रह की पूजा के उपाय, जिनसे इस ग्रह के दोषों को दूर किया जा सकता है… गुरुवार को गुरु ग्रह के निमित्त व्रत रखें। जिसमें पीले वस्त्र पहनें व बिना नमक का भोजन करें।

भोजन में पीले रंग का खाद्य पदार्थ जैसे बेसन के लड्डू व आम आदि शामिल करें। गुरु बृहस्पति की प्रतिमा या फोटो को पीले वस्त्र पर विराजित करें। इसके बाद पंचोपचार से पूजा करें।

पूजन में केसरिया चंदन, पीले चावल, पीले फूल व भोग में पीले पकवान या फल अर्पित करें व आरती करें। गुरु मंत्र का जप करें: ऊं बृं बृहस्पते नम:। मंत्र जप की संख्या कम से कम 108 होनी चाहिए। गुरु से जुड़ी पीली वस्तुओं का दान करें। पीली वस्तु जैसे सोना, हल्दी, चने की दाल, आम (फल) आदि। शिवजी को बेसन के लड्डू का भोग लगाएं।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams