महेंद्र सिंह धोनी को समझदार क्रिकेटरों को निखारने और उन्हें मैच विजेता में बदलने के लिए जाना जाता है। धोनी जब कप्तान थे तो वह रविंद्र जडेजा के साथ सफलतापूर्वक ऐसा कर चुके हैं जबकि अब वह केदार जाधव को मैच विजेता के रूप में ढालने में विराट कोहली की मदद कर रहे हैं। स्पिनर जाधव ने बांग्लादेश के खिलाफ सेमीफाइनल में तमीम इकबाल और मुशफिकुर रहीम जैसे जमे हुए बल्लेबाजों को आउट करके भारत की नौ विकेट की जीत में अहम भूमिका निभाई।

जाधव ने कहा, जब से मैं भारतीय टीम में आया हूं तब से मैं एमएस धोनी के साथ काफी समय बिता रहा हूं और उनकी जानकारी से सीखने की कोशिश करता हूं। उन्होंने कहा, मेरा उनके साथ जुड़ाव है और मैं उनकी आंखों में पढऩे की कोशिश करता हूं कि वह कहां चाहते हैं कि मैं गेंदबाजी करूं। मैं सिर्फ वैसी गेंदबाजी करने की कोशिश करता हूं और यह काम करता है।

जाधव के इस खुलासे से स्पष्ट होता है कि कोहली के लिए रणनीति को निखारने में पूर्व भारतीय कप्तान धोनी की क्या भूमिका है। कोहली ने भी स्वीकार किया था कि बांग्लादेश के बल्लेबाज जब अन्य स्पिनरों को आराम से खेल रहे थे तो धोनी ने जाधव से गेंदबाजी कराने का सुझाव दिया था। उन्होंने कहा, जब इस तरह का कदम काम कर जाता है तो मैं सारा श्रेय नहीं लेता। बेशक मैं एमएस धोनी से भी पूछता हूं और हम दोनों ने फैसला किया कि उस समय केदार अच्छा विकल्प था और उसने बेहतरीन गेंदबाजी की। उसे श्रेय जाता है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams