News Flash
challenge team india

टीम इंडिया को दक्षिण अफ्रीका में मिलेगी कड़ी चुनौती, कल से खेला जाएगा पहला टेस्ट

  • दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट सीरीज जीतना विराट सेना के लिए होगा मुश्किल
  • द. अफ्रीका में 1992 से कोई टेस्ट सीरीज नहीं जीत पाया है भारत
  • साल 2018 में द. अफ्रीका, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में खेलेगा भारत

केपटाउन
टीम इंडिया के कप्तान कोहली के लिए साल 2018 विराट चुनौतियां लेकर तैयार है। टीम इंडिया की पहली चुनौती पांच जनवरी से शुरू हो रही है। यहां विराट सेना को साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मैच खेल केपटाउन के न्यूलैंड्स स्टेडियम में खेला जाएगा। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और कई खिलाड़ी अपने परिवार के साथ साउथ अफ्रीका दौरे पर आए हैं।

सीरीज शुरू होने से पहले खिलाडिय़ों ने अपनी फैमिली के साथ यहां नया साल मनाया और जमकर मस्ती कर रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका में पहुंची टीम इंडिया और उनके परिवार की तस्वीरें सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही हैं, लेकिन अब टीम इंडिया की मस्ती का टाइम खत्म हो गया है। एक दिन बाद यानी पांच जनवरी से विराट एंड कंपनी की अग्निपरीक्षा शुरू होगी।

कप्तान विराट कोहली के लिए सबसे बड़ी चुनौती

बता दें कि भारत ने साल 1992 से दौरा शुरू करने के बाद अफ्रीका में कोई टेस्ट सीरीज नहीं जीती है और मौजूदा टीम में ऐसे 13 खिलाड़ी हैं, जो यहां 2013-14 के आखिरी दौरे के दौरान खेल चुके हैं। कप्तान विराट कोहली के लिए सबसे बड़ी चुनौती है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उसी के घर में टेस्ट सीरीज जीतना, क्योंकि टीम इंडिया ने पिछले 25 साल से कोई सीरीज नहीं जीती है। इतना ही नहीं भारतीय टीम ने यहां अब तक खेले 17 टेस्ट मैचों में से महज दो टेस्ट ही जीते हैं।

साल 2015 से लेकर अब तक टीम इंडिया ने लगातार नौ टेस्ट सीरीज जीती हैं और अब उसके पास दक्षिण अफ्रीका को हराकर वल्र्ड रिकॉर्ड 10 टेस्ट सीरीज बैक टू बैक जीतने का मौका है। ऐसे में विराट कोहली से उम्मीद होगी कि वो दक्षिण अफ्रीका में जीत के सूखे को खत्म करें। इसके बाद विराट सेना जुलाई महीने में इंग्लैंड का दौरा करेगी।

यहां टीम इंडिया को पांच मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है। भारतीय टीम ने इंग्लैंड में आखिरी बार टेस्ट सीरीज साल 2007 में द्रविड़ की कप्तानी में जीती थी। इसके बाद महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली टीम इंडिया को इंग्लैंड ने अपनी धरती पर साल 2011 में 4-0 और साल 2014 में 3-1 से हराकर टेस्ट सीरीज जीती थी। इंग्लैंड दौरे के बाद भारत साल 2018 के अंत में ऑस्ट्रेलिया का दौरा करेगी, जहां वह 4 टेस्ट मैचों की सीरीज खेल सकती है। ऑस्ट्रेलिया में भी भारत ने अब तक कोई टेस्ट सीरीज नहीं जीती है।

इतिहास रच सकती है टीम इंडिया

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच पांच जनवरी से तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का आगाज होने जा रहा है। टीम इंडिया इस वक्त दक्षिण अफ्रीका में है। दोनों टीमों के बीच क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट टेस्ट, वन-डे और टी-20 में 12 मैच खेले जाएंगे, जिनमें से 3 टेस्ट, छह वन-डे और 3 टी-20 मैच खेले जाने हैं।

भारत के सामने नए साल की शुरुआत में ही दक्षिण अफ्रीका के रूप में बड़ी चुनौती है। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने कुछ ऐसी अहम बातें बताई हैं जो कि टीम इंडिया के लिए बेहद ही महत्वपूर्ण है और जीत सुनिश्चित करने के लिए भी जरूरी हैं। तेंदुलकर का कहना है कि टीम इंडिया इस बार दक्षिण अफ्रीका में इतिहास रच सकती है।

धवन पहले टेस्ट के लिए फिट

केपटाउन। शिखर धवन को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शुक्रवार से यहां शुरू होने वाले पहले टेस्ट मैच के लिए फिट घोषित कर दिया गया है, लेकिन रविंद्र जडेजा का वायरल बीमारी के कारण खेलना संदिग्ध है। दक्षिण अफ्रीका रवाना होने से पहले धवन टखने की चोट से परेशान थे, लेकिन अब वह न्यूलैंड्स में मुरली विजय के साथ पारी का आगाज करने के लिए तैयार हैं। बीसीसीआई ने बयान में कहा कि भारतीय सलामी बल्लेबाज शिखर धवन फिट हैं और पहले टेस्ट की टीम में चयन के लिए उपलब्ध रहेंगे। टीम के दक्षिण अफ्रीका रवाना होने से पहले उनका टखना चोटिल हो गया था।

इस बार अधिक खुले दिमाग से तैयारी

केपटाउन। कठिन दौरों की तैयारी के लिए लचीलापन सबसे अहम होता है और यही वजह है कि सीनियर सलामी बल्लेबाज मुरली विजय ने दक्षिण अफ्रीका दौरे की तैयारी खुले दिमाग से की है। विजय ने कहा कि मैंने पिछली बार की तुलना में इस बार खुले दिमाग से तैयारी की है। आपका कोई स्थाई खाका नहीं हो सकता। आप टेस्ट में यह सोचकर नहीं जा सकते कि इतनी गेंद छोड़ देंगे। आपको रन बनाने की सोच लेकर जाना होता है। उन्होंने कहा कि यदि उन्होंने अच्छी गेंदबाजी की तो आपको और मजबूती से खेलना होगा। मैं हर चुनौती का सामना करने को तैयार हूं। मैं अपने देश के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ खेल दिखाना चाहता हूं।

डेल स्टेन का खेलना मुश्किल

केपटाउन। साल भर बाद दक्षिण अफ्रीकी टीम में वापसी करने वाले डेल स्टेन का भारत के खिलाफ पहले टेस्ट में खेलना मुश्किल है। केपटाउन की परिस्थितियों के मुताबिक टीम तीन तेज गेंदबाज, एक ऑलराउंडर और एक स्पिनर खिलाएगी, जिसमें स्टेन फिट नहीं बैठते। दक्षिण अफ्रीकी टीम के कोच ओटिस गिब्सन ने कहा कि स्टेन फिट हैं, लेकिन मुझे नहीं पता कि वह इस सप्ताह खेलते हुए दिखाई देंगे या नहीं। वह एक साल बाद टीम में आए हैं। मुझे नहीं लगता कि अगर हम तीन तेज गेंदबाज और एक स्पिनर लेकर खेलेंगे, तो उन तीन तेज गेंदबाजों में उनकी जगह बनती है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams