yovraj singh

यो-यो टेस्ट में हुए फेल, अश्विन-पुजारा ने पास किया टेस्ट

बेंगलुरु
सिक्सर किंग युवराज सिंह के लिए भारतीय टीम में वापसी के रास्ते धीरे-धीरे बंद होते जा रहे हैं। बेंगलुरु स्थित नेशनल क्रिकेट अकादमी में हाल ही में हुए फिटनेस टेस्ट में युवराज फेल हो गए हैं। यो-यो टेस्ट में चेतेश्वर पुजारा और रविचंद्रन अश्विन पास हो गए हैं। मंगलवार को हुए फिटनेस टेस्ट में कई खिलाडिय़ों का टेस्ट हुआ था, जिसे युवराज पास करने में नाकाम रहे।

इससे पहले भी युवराज और सुरेश रैना इस टेस्ट को पास नहीं कर पाए थे, जिसके कारण उनका टीम इंडिया में चयन नहीं हो पाया था। युवराज सिंह अब पंजाब की ओर से रणजी मैच खेल सकते हैं। ये मैच 14 अक्तूबर को शुरू होगा। टीम से बाहर चल रहे रवि अश्विन ने तो टेस्ट पास करने की खुशी का ऐलान ट्विटर पर भी किया। उन्होंने लिखा कि बेंगलुरु की ट्रिप काफी अच्छी रही। यो-यो टेस्ट को ‘डन एंड डस्टड’ कर दिया है।

क्या करना होता है यो-यो टेस्ट में

अब यो-यो टेस्ट को भी समझ लें। कई ‘कोन’ की मदद से 20 मीटर की दूरी पर दो पंक्तियां बनाई जाती हैं। एक खिलाड़ी रेखा के पीछे अपना पांव रखकर शुरुआत करता है और निर्देश मिलते ही दौडऩा शुरू करता है। खिलाड़ी लगातार दो लाइनों के बीच दौड़ता है और जब बीप बजती है, तो उसने मुडऩा होता है।

हर एक मिनट या इसी तरह से तेजी बढ़ती जाती है। अगर समय पर रेखा तक नहीं पहुंचे तो दो और ‘बीप’ के अंतर्गत तेजी पकडऩी पड़ती है। अगर खिलाड़ी दो छोरों पर तेजी हासिल नहीं कर पाता है, तो परीक्षण रोक दिया जाता है। यह पूरी प्रक्रिया सॉफ्टवेयर पर आधारित है, जिसमें नतीजे रिकॉर्ड किए जाते हैं।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams