News Flash
guru ramakant achrekar

पिछले कुछ दिनों से बीमारी से जूझ रहे थे मशहूर कोच

क्रिकेटर तेंदुलकर को तलाशने और तराशने का जाता है श्रेय

मुंबई
क्रिकेट जगत को सचिन तेंदुलकर जैसा खिलाड़ी देने वाले मशहूर कोच रमाकांत आचरेकर का बुधवार को निधन हो गया। वह 87 वर्ष के थे। उनके एक परिजन के अनुसार पिछले कुछ दिनों से वह बढ़ती उम्र से जुड़ी बीमारियों से जूझ रहे थे। उनकी रिश्तेदार रश्मि दलवी ने फोन पर बताया कि आचरेकर सर अब हमारे बीच नहीं रहे। उन्होंने आज शाम को आखिरी सांस ली। आचरेकर ने अपने करियर में सिर्फ एक प्रथम श्रेणी मैच खेला, लेकिन उन्हें सर डॉन ब्रेडमैन के बाद दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेटर तेंदुलकर को तलाशने और तराशने का श्रेय जाता है।

क्रिकेट को अलविदा कह चुके तेंदुलकर के नाम बल्लेबाजी के लगभग सारे रिकॉर्ड है। उन्होंने टेस्ट में सर्वाधिक 15921 और वन-डे में सबसे ज्यादा 18426 रन बनाए हैं। आचरेकर उनके बचपन के कोच थे और तेंदुलकर ने अपने करियर में उनकी भूमिका का हमेशा उल्लेख किया है। आचरेकर यहां शिवाजी पार्क में उन्हें क्रिकेट सिखाते थे।

तेंदुलकर ने पिछले साल एक कार्यक्रम में अपने करियर में आचरेकर के योगदान के बारे में कहा था कि सर मुझे कभी वेल प्लेड नहीं कहते थे, लेकिन मुझे पता चल जाता था, जब मैं मैदान पर अच्छा खेलता था, तो सर मुझे भेलपुरी या पानीपुरी खिलाते थे। आचरेकर को 2010 में पद्मश्री से नवाजा गया था। तेंदुलकर के अलावा वह विनोद कांबली, प्रवीण आम्रे, समीर दिघे और बलविंदर सिंह संधू के भी कोच रहे।

यह भी पढ़ें – जहरीला पदार्थ खाने से महिला की मौत

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams


[recaptcha]