final ipl

पहले चेन्नई में होना था खिताबी मुकाबला

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग का 12 मई को होने वाला फाइनल चेन्नई के बजाय हैदराबाद में होगा, क्योंकि तमिलनाडु क्रिकेट संघ (टीएनसीए) तीन स्टैंड को खोलने के लिए सरकार से जरूरी अनुमति लेने में असफल रहा। चेन्नई सुपरकिंग्स के पास हालांकि लीग चरण में शीर्ष दो टीमों में रहने पर अपने घरेलू मैदान पर पहला क्वालिफायर खेलने का मौका रहेगा, लेकिन एलिमिनेटर (आठ मई) और क्वालिफायर (दस मई) अब विशाखापट्टनम में होंगे।

प्रशासकों की समिति के चेयरमैन विनोद राय ने सोमवार को कहा कि टीएनसीए ने हमें बताया कि वह (चेपक स्टेडियम के) तीन स्टैंडों आई, जे और के को खोलने के लिए जरूरी अनुमति नहीं ले पाया है, जिसके बाद हमने चेन्नई में होने वाला फाइनल अब हैदराबाद में आयोजित करने का फैसला किया है।

उन्होंने कहा कि नाकआउट मैचों के लिए गेट राशि पर बीसीसीआई का अधिकार होता है इसलिए हमने फैसला किया। हमने दो नॉकआउट मैच विजाग में करवाने का फैसला किया है। इन तीन स्टैंड पर 12 हजार से अधिक सीट हैं और बीसीसीआई को इससे गेट राशि के तौर पर कुछ करोड़ रुपये का नुकसान होता। इन स्टैंड को भारत और पाकिस्तान के बीच एक अंतरराष्ट्रीय मैच को छोड़कर 2012 से बंद रखा गया है।

जयपुर में मिनी वुमंस आईपीएल

विनोद राय ने बताया कि थ्री-टीम मिनी वुमंस आईपीएल के मुकाबले छह से 10 मई तक जयपुर में कराए जाएंगे। पिछले साल आईपीएल के दौरान महिलाओं का एक टी-20 मैच हुआ था। इसमें सुपरनोवा और ट्रेलब्लेजर्स की टीमें उतरी थीं। इस बार इन दोनों टीमों के अलावा नई टीम वेलोसिटी होगी।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams