News Flash
poowar mitali controversy

रवैए को लेकर पोवार के आरोपों पर मिताली का जवाब

नई दिल्ली
टी-20 विश्व कप में बल्लेबाजी क्रम को लेकर संन्यास की धमकियों, नखरों और टीम में अव्यवस्था फैलाने के कोच रमेश पोवार के आरोपों पर जवाब देते हुए सीनियर क्रिकेटर मिताली राज ने कहा कि यह मेरे जीवन का सबसे खराब दिन है। मिताली ने पहले पोवार पर आरोप लगाया था कि वह उन्हें बर्बाद करना चाहते थे, जबकि कोच ने टी-20 विश्व कप पर अपनी रिपोर्ट में टूर्नामेंट के दौरान उनके रवैए पर सवाल उठाए। भारत को सेमीफाइनल में इंग्लैंड ने हराया और उसी मैच में मिताली को बाहर किए जाने पर विवाद उठा था।

मिताली ने पोवार के आरोपों पर अपने ट्विटर पेज पर लिखा कि मैं इन आरोपों से बहुत दुखी और आहत हूं। खेल के प्रति मेरी प्रतिबद्धता और देश के लिए 20 साल खेलने के दौरान मेरी मेहनत, पसीना सब बेकार गया। उसने कहा कि आज मेरी देशभक्ति पर संदेह किया जा रहा है, मेरे हुनर पर सवाल उठाए जा रहे हैं और मुझ पर कीचड़ उछाला जा रहा है। यह मेरे जीवन का सबसे खराब दिन है। ईश्वर मुझे शक्ति दे। मिताली और कोच के बीच के इस विवाद ने भारतीय महिला क्रिकेट को झकझोर दिया है।

मिताली ने पहले पोवार को प्रशासकों की समिति की सदस्य डायना एडुल्जी पर पक्षपात का आरोप लगाया। उसने कहा कि डायना ने उनके खिलाफ अपने पद का दुरुपयोग किया, जबकि पोवार ने उन्हें अपमानित किया। दूसरी ओर पोवार ने अपनी दस पन्ने की रिपोर्ट में विस्तार से जानकारी दी है। इनमें से पांच पन्नों में मिताली के बारे में लिखते हुए उन्होंने कहा कि उसने पारी की शुरुआत करने का मौका नहीं दिए जाने पर दौरा बीच में छोडऩे की धमकी दी थी। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि वह टीम के लिए नहीं बल्कि निजी रिकॉर्ड के लिए खेलती है।

यह भी पढ़ें – पंजावर में 25 हजार रुपये छीनकर भागे बाइक सवार

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams