News Flash
rahul dravid

द्रविड़ ने भविष्य के सितारों के साथ मनाया अपना जन्मदिन

नई दिल्ली
भारतीय क्रिकेट की दीवार कहे जाने वाले राहुल द्रविड़ 45 साल के हो गए। 1996 से लेकर 2012 तक द्रविड़ भारतीय क्रिकेट के मजबूत आधार रहे। एक ऐसा खिलाड़ी जिसने टेस्ट क्रिकेट और वन-डे क्रिकेट में एक समान नाम कमाया। क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद भी उन्होंने क्रिकेट से दूरी नहीं बनाई। द्रविड़ इस वक्त भारत के युवा क्रिकेटरों को तराश रहे हैं। अंडर-19 टीम के कोच द्रविड़ ने भारत के भविष्य के सितारों के साथ अपना बर्थ-डे मनाया।

द्रविड़ ऐसे खिलाड़ी हैं, जिनके बारे में लिखते-लिखते रिकॉर्ड कम पड़ जाएंगे। अपने डेब्यू के बाद द्रविड़ ने पीछे मुड़ कर नहीं देखा और लगातार 94 टेस्ट खेल डाले। उस वक्त द्रविड़ के नाम ये वल्र्ड रिकॉर्ड था। द्रविड़ को टेस्ट क्रिकेट का दीवार क्यों कहा जाता है इसके पीछे सबसे बड़ी वजह ये है कि उन्होंने चौथी पारी में सबसे अधिक रन बनाए (1,575 रन 57 पारी में) टेस्ट क्रिकेट में चौथी पारी में कोई भी बल्लेबाज द्रविड़ से आगे नहीं निकल पाया है।

द्रविड़ टेस्ट क्रिकेट में नंबर तीन पर बल्लेबाजी करते हुए 10,000 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज बने थे। द्रविड़ ने 219 पारी में 10, 524 रन बनाए। द्रविड़ टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले हर देश में शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज बने थे। राहुल द्रविड़ विश्व क्रिकेट में सबसे अधिक टेस्ट कैच लेने वाले खिलाड़ी है। द्रविड़ ने जब संन्यास लिया, तो उनके खाते में 210 कैच थे।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams