News Flash
vikas gowda

चक्का फेंक एथलीट ने 15 साल तक खेलने के बाद लिया संन्यास

कहा, मैं जिंदगी के अगले पड़ाव पर ध्यान लगाना चाहता हूं

नई दिल्ली
चक्का फेंक के शीर्ष एथलीट विकास गौड़ा ने 15 साल से अधिक समय तक प्रतिस्पर्धी स्तर पर खेलने के बाद बुधवार को संन्यास ले लिया। इस दौरान वह राष्ट्रमंडल खेलों की इस स्पर्धा में पदक जीतने वाले पहले और एकमात्र भारतीय पुरुष एथलीट बने। विकास ने एएफआई को पत्र लिखकर अपने फैसले से अवगत कराया। अमेरिका में बसे विकास ने कहा कि काफी सोच विचार और सलाह मशविरा करने के बाद मैंने एथलेटिक्स से संन्यास लेने का फैसला किया।

मैं अपने शरीर को अब और दर्द नहीं देना चाहता। मैं जिंदगी के अगले पड़ाव पर ध्यान लगाना चाहता हूं। विकास ने 2012 में 66.28 मीटर की दूरी से राष्ट्रीय रिकॉर्ड अपने नाम किया था और यह अब भी उनके नाम ही है। उन्होंने 2013 और 2015 एशियाई चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता था। उन्होंने 2010 राष्ट्रमंडल खेलों में रजत और 2014 ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था।

एशियाई खेलों में वह 2010 में कांस्य और 2014 में रजत पदक जीत चुके हैं। उन्होंने 2004, 2008, 2012 और 2016 ओलंपिक में हिस्सा लिया था। वह 2012 लंदन ओलंपिक में ही फाइनल दौर में पहुंचने में सफल रहे थे।

यह भी पढ़ें – सरकारी बैंकों में सेवाएं बाधित, लोग परेशान

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams