News Flash
Criminal cases

राम रहीम ही नहीं, ये बाबा भी आ चुके हैं विवादों में

हिमाचल दस्तक।। बाबा राम रहीम को पंचकुला की सीबीआई कोर्ट ने रेप में मामले में दोषी ठहराया है। सजा पर फैसला 28 अगस्त होगा। फैसले के बाद पंजाब और हरियाणा के कई जिले हिंसा की चपेट में हैं। अब तक 32 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि करीब 300 लोग जख्मी बताए जा रहे हैंं।

राम रहीम पहले ऐसे बाबा नहीं हैं जिन पर आपराधिक मामले दर्ज हुए हैं। इससे पहले भी कई बाबाओं पर मामले दर्ज हुए तो कईयों पर संगीन आरोप भी लगे। देखिए उन बाबाओं को जिन पर आपराधिक मामले दर्ज हुए हैं-

नित्यानंद स्वामी

दक्षिण भारत के जानेमाने धर्मगुरु स्वामी नित्यानंद यौन शोषण के आरोपों में घिरे होने के साथ-साथ जेल भी जा चुके हैं। 2010 में उनकी सेक्स सीडी आने के बाद खूब हंगामा हुआ था। सीडी की जांच हुई, सेंट्रल फॉरेंसिक लैब ने सीडी को सही बताया, लेकिन नित्यानंद के आश्रम ने एक अमेरिकी लैब की रिपोर्ट पेश कर दी, जिसने सीडी से छेड़छाड़ होने की पुष्टि की गई। इस मामले में वे काफी समय तक पुलिस से भागते रहे बंगलुरू पुलिस ने उन्हें हिमाचल प्रदेश से गिरफ्तार किया था। उन्हें 52 दिन जेल में रहना पड़ा।

आसाराम बापू

आसाराम बापू पर 16 वर्षीय लड़की ने यौन शोषण का आरोप लगाया था। अलग-अलग थानों में आसाराम के खिलाफ रेप, हत्या, छेड़खानी और धमकी का मामला दर्ज है। आसाराम इस समय जेल में बंद हैं। साल 2008 में आसाराम के मोटेरा स्थित गुरुकुल में पढ़ने वाले दो बच्चों की आश्रम में संदिग्ध रूप से मौत हो गई थी। उस दौरान आसाराम पर आरोप लगा था कि आश्रम में तंत्र-मंत्र के चक्कर में बच्चों की मौत हुई है। यह भी आरोप लगे थे कि आसाराम के आश्रम में महिलाओं का यौन शोषण किया जाता है।

राधे मां

खुद को देवी बताने वाली राधे मां पर दहेज प्रताड़ना का आरोप लगा था। इस घटना के बाद एक न्यूज चैनल पर राधे मां के दरबार में शामिल हो चुकी एक महिला वकील ने राधे मां पर अश्लील हरकतें करने का आरोप लगाया था।

सत्य साईं बाबा

आंध्र प्रदेश में पुट्टपर्थी के सत्य साईं बाबा के ऊपर भी यौन शोषण और लोगों को बरगलाने के आरोप लगते रहे हैं। उनके आश्रम में कथित स्कैंडलों की भी खबरें सामने आईं। हालांकि, बाबा ने इसे उनके विरोधियों की साजिश कहकर खारिज कर दिया था। बाबा पर हवाला, सेवा परियोजनाओं के निष्पादन में धोखाधड़ी और हत्या के भी आरोप लग चुके हैं। सत्य साईं बाबा की 24 अप्रैल 2011 को मृत्यु हो गई।

कृपालु महाराज

रामकृपाल त्रिपाठी उर्फ कृपालु महाराज पर भी महिलाओं से अभद्रता और बलात्कार के आरोप लगे थे। मई 1991 में उन पर लड़कियों को अगवा और रेप करने का आरोप लगा। मई 2007 में त्रिनिदाद और टोबैगो में 22 साल की युवती ने उन पर रेप का आरोप लगाया।

साक्षी महाराज

स्वामी सच्चिदानंद गिरी उर्फ साक्षी महाराज पर साल 1997 में भाजपा नेता ब्रह्मदत्त द्विवेदी की हत्या में शामिल होने का आरोप लगा था, हालांकि, बाद में उन्हें क्लीनचिट दे दी गई। दस साल पहले उनके खिलाफ फर्रुखाबाद में बलात्कार का एक का आरोप लगा था। यह आरोप उनके ही आश्रम की एक शिष्या ने लगाया था।

बाबा रामपाल

बाबा रामपाल ने आर्य समाज की किताब सत्यार्थ प्रकाश पर कुछ कमंट किया था। इससे गुस्साए आर्य समाज के अनुयायियों ने बाबा के आश्रम पर हमला बोल दिया। दिन था 12 जुलाई 2006। बाबा के समर्थकों ने भी हिंसा का जवाब, उतनी ही तीखी हिंसा से दिया। इस फसाद में 59 लोग घायल हो गए और एक की गोली लगने से मौत हो गई। रामपाल के आश्रम से पुलिस ने प्रेग्नेंसी टेस्ट किट भी बरामद की थी। हाईकोर्ट में उनके खिलाफ नरबलि का आरोप भी लगे हैं।

Also read:- झटका- तो क्या इस बार CM Virbhadra नहीं लड़ेंगे चुनाव!

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams